कराची: पाकिस्तान के सिंध प्रांत में सशस्त्र हमलावरों ने 24 साल की हिंदू लड़की को उसके विवाह स्थल से अगवा कर लिया और जबरन धर्मांतरण कराके उसकी शादी एक मुस्लिम युवक से करा दी. स्थानीय खबरों के अनुसार हथियारबंद लोगों ने लड़की को अगवा किया, जिनमें से कुछ पुलिस की वर्दी में थे.

सिंध के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री हरिराम किशोरी ने मंगलवार को घटना का संज्ञान लिया, जो पिछले हफ्ते सिंध प्रांत में मटियारी जिले के हाला कस्बे में घटी थी. उन्होंने पुलिस से रिपोर्ट मांगी है.

ऑल पाकिस्तान हिंदू काउंसिल (एपीएचसी) ने रविवार को कहा कि भारती बाई को पिछले सप्ताह उसके विवाह स्थल से अपहृत किया गया और उसे जबरन इस्लाम धर्म कबूल करवा के उसकी शादी शाहरुख गुल से करा दी गई.

पिता किशोर दास ने बताया कि उनकी बेटी भारती बाई की उम्र 24 साल है. स्थानीय खबरों के अनुसार हथियारबंद लोगों ने लड़की को अगवा किया, जिनमें से कुछ पुलिस की वर्दी में थे.

इस बीच गुल ने सोशल मीडिया पर दस्तावेजों की तस्वीरें डाली हैं, जिनमें बताया गया है कि भारती का दिसंबर 2019 में धर्मांतरण हुआ था और उसने बुशरा नाम रख लिया था. दस्तावेजों के अनुसार बनोरी कस्बे के जमीयत-उल-उलूम इस्लामिया में धर्मांतरण किया गया. पुलिस इस बात की तफ्तीश कर रही है कि क्या लड़की प्रमाणपत्र में अंकित तारीखों के आसपास कराची गई थी.