ढाका: बांग्लादेश के मध्य तंगाइल जिले में दो समूहों के बीच झड़प हुईं और एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की गई. ‘ढाका ट्रिब्यून’ की एक खबर के मुताबिक, जिले के बत्रा गांव में आठ-नौ लोगों के एक समूह ने मंदिर के मालिक के परिवार पर भी हमला किया. खबर के अनुसार, चित्ता रंजन ने भूमि खरीद कर करीब 20 वर्ष पहले उसपर शिव मंदिर का निर्माण कराया था. बता दें कि बांग्लादेश में हिंदू अल्पसंख्यक हैं और बहुसंख्यक मुस्लिम देश में हिंदूओं के आस्था स्थलों को अक्सर कट्टर साम्प्रदायिक लोग निशाना बनाते रहते हैं.

रिपोर्ट के अनुसार उसी गांव के एक स्थानीय निवासी के नेतृत्व में असामाजिक तत्वों के एक समूह ने रंजन के घर पर तोड़फोड़ की और उसके परिवार वालों से मारपीट कर मंदिर की जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की. रंजन ने कहा कि लोग 20 से ज्यादा वर्ष से मंदिर में पूजा- अर्चना कर रहे हैं. उन्होंने दावा किया कि आरोपी पहले भी कई बार जबरन जमीन पर कब्जा करने की कोशिश कर चुके हैं.

नागरपुर पुलिस थाने के प्रभारी आलम चंद ने बताया कि पुलिस ने घटनास्थल का दौरा किया और जांच का आदेश दिया. मामले में अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.

बता दें कि दिसंबर 2016 में बांग्लादेश में के उत्तरी क्षेत्र में नेट्रोकोना जिले में हिंदू मंदिर को काफी नुकसान पहुंचाया था और तीन मूर्तियों को तोड़ दिया गया था. मंदिर की कलाकृतियों को नुकसान पहुंचाया गया था.