नई दिल्ली: पाकिस्तान ने एक बार फिर अपने नापाक इरादों को जाहिर कर दिया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने आज बताया कि लाहौर के नौलखा बाजार स्थित गुरुद्वारे को तोड़कर वहां मस्जिद बना दी गई है. इस बाबत भारत ने पाकिस्तान उच्चायोग से नाराजगी जाहिर की. पाकिस्तान उच्चायोग के बाहर भी प्रदर्शन देखने को मिला. बता दें इस गुरुद्वारे को शहीदी स्थान भी कहते हैं. क्योंकि यहां भाई तरू सिंह जी शहीद हुए थे. लेकिन पाकिस्तान अपनी ओछी हरकतों से बाज कहां आने वाला, पाकिस्तान का कहना है कि यह मस्जिद शहीद गंज है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान गुरुद्वारे के नाम को बदलने की कोशिश कर रहा है.Also Read - पाकिस्‍तान: दो बहनों की शादी चचेरे भाइयों से हुई थी, पतियों के स्‍पेन नहीं ले जा पाईं तो ससुर ने गोली मारकर हत्‍या की

उन्होंने कहा कि भारत ने इस बाबत चिंता जाहिर करते हुए पाकिस्तान को मामले की जांच करने और उचित कार्रवाई करने को कहा है. साथ ही पाकिस्तान को वहां रह रहे अल्पसंख्यकों को लेकर भी कहा गया है कि वह उनकी सांस्कृतिक, सामाजिक और धार्मिक सुरक्षा को सुनिश्चित करें. ताकि अल्पसंख्यक वहां अच्छे से रह सकें. Also Read - देश के उत्तर-पश्चिम हिस्सों में अगले भीषण गर्मी से तीन दिन तक राहत का अनुमान, बारिश होगी, घटेगा तापमान

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि सन 1745 में भाई तरू सिंह जी ने शहीदी स्थान पर महान बलिदान दिया था. यह एक एतिहासिक घटना है. सिख समुदाय के लिए गुरुद्वारा काफी पवित्र माना जाता है. ऐसे में इस बाबत पाकिस्तान को सिख समुदाय के लिए न्याय की मांग की गई है. साथ ही शहीदी स्थान के स्थान पर मस्जिद बनाने को लेकर उचित कार्रवाई करने को कहा गया है. Also Read - 'मेरा नाम इतनी शिद्दत से न लो कि तुम्हारा पति नाराज हो जाए', मरियम नवाज पर इमरान की टिप्पणी पर बवाल