बेरूत: हिजबुल्ला नेता सैय्यद हसन नसरल्लाह ने इजरायल को चेतावनी देते हुए कहा है कि उनकी पार्टी इजरायल के खिलाफ युद्ध नहीं छेड़ेगी लेकिन अगर इजरायल ने लेबनान के खिलाफ युद्ध छेड़ा तो फिर करारा जवाब देने के लिए यह निश्चित रूप से अपनी सारी शक्ति का इस्तेमाल करेगी. नसरल्लाह ने शनिवार को अल-मायादीन टीवी चैनल पर प्रसारित भाषण में कहा इजराइल को लेबनान के खिलाफ युद्ध छेड़ने पर पछतावा होगा. इजरायलियों को पता होना चाहिए कि उन्हें हम पर हमला नहीं करना चाहिए क्योंकि इस हमले की कीमत उन्हें अपनी अपेक्षा से कहीं ज्यादा चुकानी होगी. Also Read - इजराइल के भीषण एयर अटैक से फि‍र थर्राई गाजा सिटी, युद्ध का खतरा बढ़ा

Also Read - Israel-Hamas conflict: चीन ने सुरक्षा परिषद से कार्रवाई की मांग की, US की आलोचना की

अमेरिकी राष्ट्रपति पद की दावेदार हैं ये पहली हिंदू सांसद, 2 फरवरी से करेंगी चुनाव प्रचार का आगाज Also Read - इजराइल ने गाजा में सुबह की एयर स्‍ट्राइक, कई मौतों की रिपोर्ट्स, जो बाइडेन का समर्थन, लेकिन जताई ये चिंता

रॉकेट की पहुंच तेल अवीव तक

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, नसरल्लाह ने कहा कि हिजबुल्ला के पास ऐसे रॉकेट हैं जो तेल अवीव तक पहुंच सकते हैं. नसरल्लाह ने लेबनान से उत्तरी इजरायल तक जाने के लिए खोदी गई सुरंगों के मौजूद होने की भी पुष्टि की. उन्होंने कहा, “बेशक, सुरंगे हैं जो दक्षिण में खोजी गई हैं. हैरानी की बात तो यह है कि इन सुरंगों की खोज के लिए इजरायल को एक लंबा समय लगा. उन्होंने कहा- यह इजरायल के जांचकर्ताओं की विफलता और अक्षमता साबित करता है..वे अपनी सभी उन्नत तकनीकों के बावजूद पहले इन सुरंगों की खोज नहीं कर सके. चार दिसंबर, 2018 को इजरायली सेना ने सुरंगों का पता लगाने और नष्ट करने के लिए नॉर्दन शील्ड ऑपरेशन शुरू किया था. हालांकि, नसरल्लाह ने कहा कि अगर युद्ध छिड़ता है तो हिजबुल्ला उत्तरी इजरायल में खोदी गई सुरंगों तक ही सीमित नहीं रहेगा.

सुरंग की तलाश (फोटो क्रेडिट -सोशल मीडिया)

उन्होंने सवालिया लहजे में कहा- क्या इस बात का कोई तुक बनता है कि हिजबुल्ला केवल पांच सुरंगों का उपयोग कर अपने हजारों लड़ाकों को उत्तरी इजरायल भेज देगा? उन्होंने यह भी कहा कि नॉर्दन शील्ड अभियान अभी तक समाप्त नहीं हुआ है जैसा कि पहले इसकी घोषणा इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने की थी. उन्होंने कहा कि इजरायल अभी भी अन्य सुरंगों की तलाश कर रहा है.(इनपुट एजेंसी)

भारत विरोधी एकाउंट को ट्विटर ने किया बंद, सिख अलगाववादियों ने दूतावास के सामने किया प्रदर्शन