संयुक्त राष्ट्रः संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने पहले संबोधन के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 50 मिनट का समय लिया जो 15 से 20 मिनट की तय समय-सीमा से काफी ज्यादा था. नेताओं से उम्मीद की जाती है कि संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में सबसे व्यस्त समय में वे राष्ट्रीय बयान देते वक्त 15 से 20 मिनट से ज्यादा समय नहीं लेंगे. Also Read - 'Statue of Unity' पर 'Statue of Liberty' से अधिक पर्यटक आते हैं, दो साल में 50 लाख से अधिक लोग पहुंचे: मोदी

संयुक्त राष्ट्र महासभा: PM मोदी ने कहा- भारत में आतंक के खिलाफ आवाज़ है और आक्रोश भी, देखें VIDEO Also Read - Indian Railways Satute of Unity: गुजरात को PM मोदी ने दिया 8 नई ट्रेनों का तोहफा, कहा-पहली बार ऐसा हुआ है

संयुक्त राष्ट्र महासभा सभागार के मंच से करीब 50 मिनट तक दिए भाषण में खान ने परमाणु युद्ध का राग अलापते हुए आधा समय कश्मीर और भारत पर बोला. शुक्रवार को महासभा को संबोधित करने वाले नेताओं के क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नंबर चौथा था और उन्होंने करीब 16 मिनट तक बोला जिसमें उन्होंने भारत के विकास एजेंडा और अन्य महत्त्वकांक्षी कार्यक्रमों पर संक्षेप में बोला. Also Read - कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी को कहा धन्यवाद, बोले- गरीबों को मुफ्त में दी जाए वैक्सीन

संयुक्त राष्ट्र महासभा के उच्च स्तरीय सत्र पर प्राप्त सूचना के मुताबिक सामान्य चर्चा में बयानों के लिए अपनी तरफ से 15 मिनट की समय-सीमा तय की जानी चाहिए. आज तक सबसे लंबा भाषण क्यूबा के फिदेल कास्त्रो ने महासभा के 872वें महाधिवेशन में 26 सितंबर, 1960 को दिया था. उन्होंने 269 मिनट का समय लिया था.

न्यूयार्क में बांग्लादेश और भूटान सहित कई अन्य राष्ट्राध्यक्षों से पीएम मोदी की हुई द्विपक्षीय वार्ता

आपको बता दें कि पीएम मोदी ने अपने संबोधन में बताया कि भारत किस प्रकार से आगे बढ़ रहा है और वह दुनिया के विकास में किस प्रकार से अपनी भागेदारी दे रहा है. पीएम मोदी ने बताया कि भारत प्लास्टिक मुक्त राष्ट्र बनने की दिशा में एक बहुत बड़ा अभियान शुरू कर रहा है. उन्होंने महासभा के 74वें सत्र को संबोधित करते हुए मोदी ने इस विश्व संगठन से एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक से मुक्त होने की अपील की.