इस्लामाबादः पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमले के बाद भारत की ओर से संभाविक कार्रवाई से पाकिस्तान डर गया है. तभी तो पड़ोसी देश के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी से ‘शांति लाने को एक मौका देने’ की बात कही और उन्हें यकीन दिलाया कि वह अपनी जुबान पर ‘कायम’ रहेंगे. उन्होंने कहा कि अगर भारत पुलवामा हमले पर पाकिस्तान को ‘कार्रवाई योग्य खुफिया जानकारी’ उपलब्ध कराता है तो इस पर ‘तत्काल’ कार्रवाई की जाएगी. Also Read - Farmers Protest LIVE: पीएम मोदी के साथ केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राजनाथ, तोमर, गोयल की चल रही मीटिंग

Also Read - PM Modi: 85 साल की बुजुर्ग पीएम मोदी के नाम करना चाहती हैं अपनी जमीन, जानें क्यों

खान की यह टिप्पणी राजस्थान में मोदी की उस रैली के बाद आयी है जिसमें उन्होंने कहा था, ‘‘आतंकवाद के खिलाफ पूरी दुनिया में आम सहमति है. आतंकवाद के दोषियों को दंडित करने के लिये हम मजबूती से आगे बढ़ रहे हैं… इस बार हिसाब होगा और बराबर होगा… यह बदला हुआ भारत है, इस दर्द को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा… हम जानते हैं आतंकवाद को कैसे कुचलना है.’’ Also Read - Indian Navy Day 2020: स्थापना नहीं, पाकिस्तानी की तबाही की याद में मनाया जाता है नौसेना दिवस, जानिए पीएम मोदी ने क्या कहा

पाकिस्तानी सांसद ने पीएम मोदी, सुषमा स्वराज से की मुलाकात, पुलवामा अटैक को लेकर कही ये बात

पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनने के बाद खान को बधाई देने के लिये फोन पर उनके साथ हुई अपनी बातचीत को याद करते हुए मोदी ने कहा कि मैंने उनसे कहा, ‘‘आईये गरीबी और अशिक्षा के खिलाफ लड़ाई लड़ें. इस पर खान ने कहा था कि मोदीजी मैं पठान का बच्चा हूं, सच्चा बोलता हूं, सच्चा करता हूं. आज उनके शब्दों को कसौटी पर तौलने का वक़्त है.’’ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी बयान के अनुसार, ‘‘प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी जुबान पर कायम हैं कि अगर भारत कार्रवाई योग्य खुफिया जानकारी देता है तो हमलोग तत्काल कार्रवाई करेंगे.’’

खान ने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को ‘‘शांति को एक मौका’’ देना चाहिए. इससे पहले 19 फरवरी को खान ने भारत को आश्वस्त किया था कि वह पुलवामा हमले के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे जिसे पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी संगठन ने अंजाम दिया था. अगर भारत ‘‘कार्रवाई के योग्य खुफिया जानकारी’’ साझा करता है तो पाकिस्तान जरूर कार्रवाई करेगा. हालांकि उन्होंने ‘‘बदले की भावना’’ से कोई जवाबी कार्रवाई शुरू करने के खिलाफ भारत को चुनौती दी. बहरहाल भारत ने कहा कि हमले की जांच को लेकर खान की पेशकश ‘‘बहाना’’ है.