जेनेवा: चीन से पूरी दुनिया इन दिनों त्रस्त है. चीन आए दिन अपने पड़ोसियों के साथ विवाद करने से बाज नहीं आ रहा है. ऐसे में बीते दिनों दक्षिणी पैंगोग लेक इलाके में चीनी सेना को भारतीय सेना ने मात दी धी. वहीं अब कूटनीतिक स्तर पर भी चीन भारत से मात खा चुका है. जी हां, संयुक्त राष्ट्र में चीन को भारत ने पटखनी दे दी है. चीन को पछाड़ते हुए भारत ने प्रतिष्ठित इकोनॉमिक एंड सोशल काउंसिल (ECOSOC) में जगह बना ली है. भारत इसी के साथ अब काउंसिल से संबंधित महिला स्थिति आयोग का सदस्य बन गया है. बता दें कि बीते दिनों भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भी सीट मिली है. जिसपर भारत 2021 से काबिज होगा. Also Read - PM मोदी, प्रेसिडेंट पुतिन के बीच टेलिफोन पर हुई बातचीत, रिश्‍तों को मजबूत करने का लिया संकल्प

बता दें कि आयोग के सीट के लिए भारत, चीन और अफ्गानिस्तान आमने सामने थे. एक तरफ जहां भारत औऱ अफ्गानिस्तान को 54 से अधिक सदस्य देशों का साथ मिला वहीं चीन के हाथ कुछ भी नहीं लगा. इस बात की जानकारी संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति (T.S Tirumurti) ने ट्वीट करके यह जानकारी दी. Also Read - Bacterial Outbreak in China: चीन में फैली एक और महामारी, बैक्टीरिया संक्रमण ने मचाई तबाही

तिरुमूर्ति ने इस बाबत खुशी जाहिर करते हुए लिखा- भारत ने प्रतिष्ठित इकोनॉमिक एंड सोशल काउंसिल (ECOSOC) में सीट हासिल कर ली है. भारत को CWS का सदस्य चुन लिया गया है. यह दर्शाता है कि महिलाओं के प्रति भारत की प्रतिबद्धता क्या है और महिला सशक्तिकरण की दिशा में भारत कितना काम कर रहा है. बता दें कि इस आयोग के लिए भारत की सदस्यता 4 साल के लिए बनी रहेगी. Also Read - चीन के व्यापार पर भारत सरकार का एक और दाव, निर्यात होने वाले LED उत्पादों की बढ़ाई गई निगरानी