India China News: भारत और चीन के बीच तनातनी चल रही है. इस बीच चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सेना को युद्ध की तैयारियां तेज करने का आदेश भी दिया है. तमाम खबरों के बीच क्या आप जानते हैं कि ये विवाद आखिर क्यों है? Also Read - 2036 तक रूस के राष्ट्रपति बने रहेंगे व्लादिमीर पुतिन, पीएम मोदी ने फोन कर दी बधाई, कहा- सामरिक संबंध करेंगे और मजबूत

क्या है विवाद
मौजूद विवाद लद्दाख पर है. विदेश मंत्रालय की ओर से एलएसी को लेकर अभी तक जो एक बयान जारी किया गया है उसमें भारतीय सैनिकों की गश्त में चीनी सैनिकों की ओर से रुकावट डालने की बात की गई थी. Also Read - रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का लेह दौरा टला, मंत्रालय ने कहा- जारी करेंगे अगली तारीख

हालांकि चीन ने इससे इनकार किया है. इसके बाद बीते सप्ताह तीन अलग-अलग बयानों में चीन के विदेश मंत्रालय की ओर से भारतीय सैनिकों पर सीमा उल्लंघन का आरोप लगाया गया. Also Read - पीएम मोदी ने चीन की सोशल नेटवर्किंग साइट 'वीबो' को छोड़ा, लगभग सभी पोस्ट की डिलीट

इस विवाद पर जहां भारत सरकार की ओर से काफी कम बयान आए हैं वहीं चीनी मीडिया में इसे लेकर काफी सुर्खियां हैं. वहां की मीडिया इसे डोकलाम से भी कहीं ज्यादा बड़ा विवाद बता रही हैं.

विवादित आदेश
सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के मुताबिक, शी ने सेना को आदेश दिया कि वह सबसे खराब स्थिति की कल्पना करे, उसके बारे में सोचे और युद्ध के लिए अपनी तैयारियों और प्रशिक्षण को बढ़ाए, तमाम जटिल परिस्थितियों से तुरंत और प्रभावी तरीके से निपटे. साथ ही पूरी दृढ़ता के साथ राष्ट्रीय सम्प्रभुता, सुरक्षा और विकास संबंधी हितों की रक्षा करे.

सीमा का हाल
दोनों देशों के सैनिकों को एलर्ट पर रखा गया है. चीन ने सीमा के पास गश्त बढ़ा दी है. खबरें आ रही हैं कि भारी वाहन, हथियार तैनात किए गए हैं. भारतीय सेना भी चौकस है.