नई दिल्ली: भारत अबतक दुनियाभर के देशों से हथियार बड़े पैमाने पर खरीदता आया है. ऐसे में बहुत कम ही देश ऐसे हैं जिन्हें भारत ने हथियार बेंचे हैं. हालांकि जिन हथियारों को भारत ने बेचा है उनमें से ज्यादातर हथियार वृहद स्तर पर खतरनाक नहीं हैं. लेकिन अब भारत भी दुनिया के उन देशों की लिस्ट में शामिल होने जा रहा है जो खतरनाक हथियारों को बेंचते हैं. लंबे समय से दक्षिण एशिया के कई देश भारत से ब्रह्मोस मिसाइल खरीदने को लेकर दिलचस्पी दिखा रहे थे. लेकिन अगले साल भारत और फिलीपींस इस समझौते पर हस्ताक्षर कर सकते हैं. जिसके तहत फिलीपिंस भारत से ब्रह्मोस मिसाइल खरीद सकेगा. बता दें कि ब्रह्मोस मिसाइल स्वदेशी मिसाइल है, इसे रूस और भारत ने मिलकर बनाया है.Also Read - Highlights IND vs SA 3rd ODI: जीतते-जीतते हार गया भारत, साउथ अफ्रीका ने 3-0 से किया क्‍लीन स्‍वीप

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक नई भारत-रूस की संयुक्त टीम, जो ब्रह्मोस मिसाइल को तैयार करती है. वहीं जल्द ही फिलीपींस की सेना को ब्रह्मोस मिसाइल की आपूर्ति के सौदे को लेकर दिसंबर महीने में मनीला का दौरान करने वाली हैं. मनीला दौरे के दौरान यह टीम उन मुद्दों को सुलझाएगी जिससे आने वाले समिट में इस समझौते को फाइनल किया जा सके. भारत की केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन और फिलीपींस के उसके समकक्ष के बीच भी अन्य कई मुद्दों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है. Also Read - विराट कोहली को कप्तानी से हटाने की वजह से भारतीय क्रिकेट 'Dead End' पर आ गया है: राशिद लतीफ

बता दें कि भारत और फिलीपींस के बीच 6 नवंबर को विदेश मंत्री स्तर की वर्चुअल मीटिंग हुई थी. इसी मीटिंग में रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने को लेकर उम्मीद थी लेकिन इस मीटिंग में ऐसा नहीं हो सका था. सूत्रों की मानें तो इस दौरान हस्ताक्षर करने वाले उक्त अधिकारी उस दौरान मौजूद नहीं थे. इस कारण रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर नहीं हो सके थे. Also Read - IND vs SA, 3rd ODI: सीरीज में Ravichandran Ashwin बुरी तरह फ्लॉप, टीम में चयन से खफा Sanjay Manjrekar