India-US 2+2 Ministerial Dialogue: चीन और पाकिस्तान के साथ लगातार जारी तनावपूर्ण स्थिति के बीच भारत और अमेरिका के बीच आज से 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक शुरू हो रही है. इस बैठक में तमाम अंतरराष्ट्रीय और द्वपक्षीय मुद्दों के साथ-साथ और चीन से लगे वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर बेहद तनावपूर्ण स्थिति को लेकर भी चर्चा होगी. इस बीच वार्ता शुरू होने से पहले अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने विधिवत एक बयान जारी किया है. इसमें कहा गया है कि अमेरिका क्षेत्रीय और वैश्विक शक्ति के रूप में उभरते भारत का स्वागत करता है. Also Read - किसानों से बातचीत से पहले मोदी सरकार के दिग्गज मंत्रियों की बैठक, इस रणनीति पर हो रही चर्चा!

उसने यह भी कहा कि भारत के एक जनवरी 2021 से शुरू हो रहे यूएनएससी के कार्यकाल के दौरान अमेरिका उसके साथ काम करने को लेकर भी उत्सुक है. Also Read - यूएई के प्रधानमंत्री से मिले विदेश मंत्री एस जयशंकर, कोविड के बाद आर्थिक सहयोग पर हुई चर्चा

भारत और अमेरिका के बीच नयी दिल्ली में होने जा रही तीसरी 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक से पहले विदेश मंत्रालय की ओर से एक फैक्ट शीट में कहा गया, ‘‘ भारत के एक क्षेत्रीय और वैश्विक शक्ति बनकर उभरने का अमेरिका स्वागत करता है. अमेरिका संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत के आगामी कार्यकाल के दौरान उसके साथ निकटता से काम करने को भी उत्सुक है.’’

अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ अपने भारतीय समकक्षों क्रमश: राजनाथ सिंह तथा एस. जयशंकर के साथ 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक करेंगे.

अमेरिकी विदेश विभाग ने बताया कि एस्पर और पोम्पिओ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे और अमेरिका-भारत व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने के बारे में सरकारी और कारोबारी जगत के अगुआओं से भी बात करेंगे.

फैक्ट शीट में विदेश मंत्रालय ने कहा कि दोनों देशों के बीच साझा मूल्यों और स्वतंत्र एवं मुक्त हिंद-प्रशांत के लिए प्रतिबद्धता पर निर्मित मजबूत तथा बढ़ते द्विपक्षीय संबंध हैं.