न्यूयॉर्क: कनाडा की सीमा से अवैध रूप से अमेरिका में प्रवेश करने वाले लोगों को ढोने के आरोप में एक भारतीय उबर कैब चालक को एक साल की जेल की सजा सुनाई गई है. संघीय अभियोजक ग्रांट जैक्विथ ने कहा कि अमेरिका में शरण पाने वाले 30 वर्षीय जसविंदर सिंह को गुरुवार को न्यूयॉर्क राज्य के यूटिका में एक संघीय अदालत में न्यायाधीश डेविड हर्ड ने सजा सुनाई और वह संभावित निर्वासन का सामना कर रहा है.

न्याय विभाग ने कहा कि सिंह ने जनवरी और मई 2019 के बीच कई अवैध सीमा पार करने वालों को पेमेंट और अंतर्देशीय परिवहन के लिए चुनने की बात कबूली. उसे पिछले मई में तब गिरफ्तार किया गया था, जब वह एक वयस्क और एक बच्चा, जिन्होंने गैरकानूनी रूप से सीमा पार किया, उनसे 2,200 डॉलर पेमेंट लेने कनाडा सीमा के पास गया था.

कनाडा के साथ 8,840 किलोमीटर की अमेरिकी सीमा ज्यादातर खुली रहती है और ज्यादा कड़ी सुरक्षा नहीं है. कनाडाई और अमेरिकी नागरिक बिना वीजा के एक-दूसरे के देशों में जा सकते हैं, हालांकि उन्हें नौकरी करने के लिए वर्क परमिट की जरूरत होगी. लेकिन भारत जैसे अन्य देशों के नागरिक, जो अमेरिका के वीजा-मुक्त प्रवेश कार्यक्रमों से कवर नहीं हैं, उन्हें कनाडा से अमेरिका जाने के लिए वीजा की जरूरत होती है.