न्यूयॉर्क: अमेरिका पहुंचे भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने चीन, ऑस्ट्रेलिया और यूक्रेन के अपने समकक्षों के साथ मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने ऊर्जा, तकनीक एवं द्विपक्षीय संबंधों जैसे विभिन्न मामलों पर चर्चा की. जयशंकर ने ट्वीट किया कि चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ बैठक ‘हमारे संबंधों की समीक्षा करने के लिए लाभकारी रही’. जयशंकर ने कहा कि उन्हें चेक गणराज्य के विदेश मंत्री टॉमस पेट्रिक के साथ ‘मिलकर खुशी’ हुई और इस दौरान ‘चेक गणराज्य, वाइसग्राद समूह और यूरोपीय संघ के साथ भारत के सहयोग पर चर्चा’ की गई.

जयशंकर ने बताया कि ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने के साथ ‘फलदायी बैठक’ रही और दोनों पक्षों ने संबंधों में सुधार के लिए मिलकर काम करने पर सहमति जताई. अल्बेनिया के विदेश मंत्री जेंट काकाज के साथ बैठक में कहा कि भारत द्विपक्षीय संबंधों के लिए एक समकालीन रूपरेखा तैयार करने का इच्छुक है. उन्होंने ट्वीट किया कि यूक्रेन के समकक्ष वादिम प्रायस्तैको के साथ ऊर्जा सुरक्षा, तकनीकी सहयोग और व्यापारिक संभावनाओं समेत विभिन्न विषयों पर अच्छी बातचीत हुई.

विदेश मंत्री ने बताया कि ‘द्विपक्षीय सहयोग में उनकी सकारात्मक सोच की सराहना करता हूं.’ उन्होंने इटली के विदेश मंत्री लुइजी दी माइओ के साथ बैठक को ‘ऊर्जावान बातचीत’ बताते हुए कहा कि दोनों पक्षों ने अत्यंत सकारात्मक दिशा में बढ़ रहे द्विपक्षीय संबंधों को और आगे ले जाने पर सहमति जताई. जयशंकर ने बेलारूस के विदेश मंत्री व्लादिमीर माकेई के साथ बैठक में आर्थिक सहयोग की संभावनाओं और पर्यटन पर चर्चा की.