वाशिंगटन: भारत-पाक संघर्ष को लेकर फैली अस्थिरता के बीच अमेरिका के दो प्रभावशाली सीनेटरों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से अनुरोध किया कि वह भारत-पाक संघर्ष का शांतिपूर्ण समाधान निकालने पर विचार करे. साथ ही विवाद के कारणों से निपटने के लिए भारत और पाकिस्तान पर दबाव बढ़ाने के लिए क्षेत्रीय शक्तियों के साथ मिलकर काम करने के लिए कहा.

आज स्वदेश लौटेंगे विंग कमांडर अभिनंदन, बाघा बोर्डर से करेंगे प्रवेश

खतरनाक स्थिति
कंसास से सिनेटर जेरी मोरान और न्यू हैम्पशायर से जीन शाहीन ने एक पत्र में कहा कि कश्मीर क्षेत्र में भारत और पाकिस्तान के बीच खतरनाक स्थिति को तत्काल हल किया जाना चाहिए. उन्होंने ट्रंप से यह भी सुनिश्चित करने का आग्रह किया कि पाकिस्तान आतंकवादी समूहों के खिलाफ अधिक काम करे. दोनों सीनेटरों ने कहा, ‘‘हम अमेरिका द्वारा घोषित आतंकवादी समूहों की सूची में शामिल पाकिस्तानी आतंकवादी समूहों के हमलों के जवाब में भारत के आत्म रक्षा के अधिकार की पुष्टि करते हैं और भारत के पकड़े गए वायु सेना अधिकारी IAF पायलट अभिनंदन को रिहा करने के पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के फैसले का स्वागत करते हैं.’’

हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाकिस्तान, उरी सेक्टर में किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक व्यक्ति घायल

शांतिपूर्ण समाधान
उन्होंने कहा कि उन्हें चिंता है कि यह संकट युद्ध में तब्दील हो सकता है. दोनों देशों की सीमा पर हजारों सैनिक, भारी तोपें हैं और इलाके में गोलीबारी हुई. सत्तारूढ़ पार्टी के मोरान और डेमोक्रेटिक पार्टी के शाहीन ने कहा, ‘‘हम आपके रुख के साथ हैं कि पाकिस्तान को क्षेत्र को अस्थिर करने वाले भारत विरोधी आतंकवादी समूहों को खत्म करने के लिए अधिक प्रयास करने चाहिए और आपसे इस संघर्ष के बढ़ने से पहले इसके शांतिपूर्ण समाधान पर विचार करने का अनुरोध करते हैं.’’

पाकिस्तान के साथ तनाव के वक्त भारत के साथ आया सबसे भरोसेमंद दोस्त