जकार्ता: इंडोनेशिया की नौसेना के गोताखोरों ने अक्टूबर में दुर्घटनाग्रस्त हुए लॉयन एयर के जेट विमान का कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर बरामद कर लिया है जिससे हादसे की जांच में बड़ी कामयाबी मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. इंडोनेशियाई अधिकारियों ने सोमवार को इसकी जानकारी दी. इस दर्दनाक हादसे में 189 यात्रियों ने जान गंवाई थी. गत वर्ष अक्टूबर में उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही जावा सागर में समा गया था. कुछ यत्रियों के अवशेष मिलने की भी सूचना है.

इंडोनेशिया विमान दुर्घटना: मारे गए यात्री के परिवार ने ‘बोइंग’ पर दायर किया केस

समुद्री मामलों के उपमंत्री रिदवान जमालुद्दीन ने पत्रकारों को बताया कि दुर्घटना में जान गंवाने वाले 189 यात्रियों में से कुछ के अवशेष का भी पता लगा लिया गया है. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष ने सोमवार की सुबह इस बात की पुष्टि की. इंडोनेशियाई नौ-सेना के पश्चिमी बेड़े के प्रवक्ता, लेफ्टिनेंट कर्नल एगंग नुग्रोहो ने कहा कि उच्च प्रौद्योगिकी वाले यंत्रों से लैस गोताखोरों को समुद्री सतह पर कीचड़ में 8 मीटर (26 फुट) की गहराई पर वॉयस रिकॉर्डर मिला है.

टेकऑफ के 13 मिनट बाद लापता हुआ Lion Air का विमान समुद्र में क्रैश, 188 लोग थे सवार

आपको याद दिला दें कि इंडोनेशिया का बोइंग 737 मैक्स 8 जेट विमान 29 अक्टूबर को जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ ही मिनट बाद जावा सागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिससे उसमें सवार सभी 189 यात्रियों की मौत हो गई थी. इस जेट विमान का कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर बरामद कर लिया गया है. यह खोज हादसे की जांच के लिए अहम मानी जा रही है. इंडोनेशिया के अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

इंडोनेशिया की राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा समिति (एनटीएससी) के उप प्रमुख हरयो सतमिको ने बताया कि बॉक्स सोमवार को तड़के बरामद किया गया. जांचकर्ताओं को बोइंग 737 मैक्स विमान का फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर पहले ही मिल गया था जिससे 29 अक्टूबर को विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले उसकी रफ्तार, ऊंचाई और दिशा के बारे में जानकारी मिली थी.

188 लोगों को ले जा रहा Lion Air का विमान समुद्र में क्रैश, दिल्ली के भव्य सुनेजा थे कैप्टन