तेहरान: एक दिन पहले ही ख़बरें थी कि अमेरिका ने आदेश देने के बाद अपने सैनिकों को ईरान पर हमला करने से पहले रोक दिया. इसके बाद भी न दोनों देशों के बीच तनातनी कम होने का नाम नहीं ले रही है. अब ईरान ने कहा है कि अगर ईरान पर एक भी गोली चली तो अमेरिका को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. इस बयान के बाद दोनों देशों के बीच एक बार तनातनी बढ़ सकती है.

ईरान ने शनिवार को अमेरिका को चेतावनी दी कि इस्लामी गणतंत्र के खिलाफ किसी भी कार्रवाई से क्षेत्र में अमेरिकी हितों को बड़ा नुकसान पहुंचेगा और उसे इसके लिए गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे. दक्षिण-पश्चिम एशिया में सशस्त्र बल के जनरल स्टाफ के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल अबुलफज़ल शेकरची ने तसनीम समाचार एजेंसी से कहा, ‘‘ईरान की ओर एक भी गोली चली तो अमेरिका और उसके सहयोगियों के हितों में आग लग जाएगी.”

डोनाल्ड ट्रंप का खुलासा- अमेरिकी सैनिक ईरान पर हमला करने को थे तैयार, इस वजह से बुला लिया वापस

बता दें कि एक दिन पहले ही अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि उन्हें ईरान पर हमला करने की कोई ‘‘जल्दी नहीं’’ है. उन्होंने खुलासा किया था कि अमेरिकी बल जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार थे लेकिन बड़े पैमाने पर लोगों के हताहत होने की आशंका के मद्देनजर उन्होंने बलों को वापस बुला लिया. ईरान ने बृहस्पतिवार को दावा किया था कि उसने उसके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन होने पर अमेरिकी सैन्य निगरानी ड्रोन को गिरा दिया.

ट्रंप ने कई ट्वीट में कहा था कि ‘‘मैं किसी जल्दबाजी में नहीं हूं.’’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने ईरान की इस कार्रवाई का जवाब देने के लिए अमेरिकी बलों को भेजने का फैसला किया था लेकिन बाद में इसे वापस ले लिया था. राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हमले से 10 मिनट पहले मैंने इसे रोका.’’उन्होंने कहा कि एक जनरल ने उन्हें बताया कि इस कदम से ईरान की तरफ 150 मौतें होने की आशंका है और फिर उन्होंने यह पाया कि यह एक ‘‘संतुलित’’ प्रतिक्रिया नहीं होगी.