Also Read - ED ने कश्मीरी अलगाववादी नेता शब्बीर शाह की पत्नी के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया

तेहतरान, 22 दिसम्बर | ईरानी संसद के अध्यक्ष अली लरिजानी ने कहा कि मध्य पूर्व में आतंकवाद को बढ़ावा देकर राष्ट्रों ने बहुत बड़ी गलती की है। समाचार चैनल ‘प्रेस टीवी’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, लरिजानी ने सीरिया की राजधानी दमिश्क में सीरियाई प्रधानमंत्री वेल नादर अल-हल्की के साथ बैठक में कहा कि जो राष्ट्र आतंकवादी गुटों को बढ़ावा दे रहे हैं, उन्होंने बहुत बड़ी गलती की है और वे संकट में पड़ जाएंगे। Also Read - यूपी सहित देश के इन 12 राज्यों में सक्रिय है आतंकी संगठन आईएस, सरकार ने संसद में दी जानकारी

लरिजानी ने सीरिया और इराक में आतंकवाद के मुद्दे को ‘क्षेत्रीय समस्या’ करार दिया। उन्होंने कहा, “क्षेत्र में आतंकवाद के मुद्दे को लेकर इस्लामी गणराज्य ईरान का शुरुआत से ही अपना रणनीतिक दृष्टिकोण रहा है।” उन्होंने कहा, “सीरिया के हालात को ईरान पूरे क्षेत्र में सबसे महत्पूर्ण मुद्दे के रूप में देखता है।” उधर, सीरियाई प्रधानमंत्री ने भी अपना पक्ष रखते हुए अपने देश और जनता को ईरान द्वारा दिए गए समर्थन की सराहना की। Also Read - NIA ने 22 साल की तानिया परवीन के खिलाफ जिहादी 'भर्ती' केस में आरोप पत्र किया दायर

सीरिया में मार्च 2011 से ही संकट जारी है, जहां आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने कई इलाकों को अपने कब्जे में ले लिया है और वहां मानवता के खिलाफ आपराधिक गतिविधियों को अंजाम दे रहा है।