तेहरान: संयुक्त अरब अमीरात और इजराइल के बीच राजनयिक संबंधों को शुरू करने संबंधी ऐतिहासिक समझौते की घोषणा के बाद ईरान के शक्तिशाली रिवोल्यूशनरी गार्ड ने शनिवार को यूएई को चेतावनी देते हुए कहा कि यह कदम यूएई के लिए खतरनाक साबित होगा. यूएई, इजराइल के साथ राजनयिक संबंध स्थापित करने वाला पहला खाड़ी अरब देश बन गया है और सामान्य संबंध स्थापित करने वाला केवल तीसरा अरब राष्ट्र है. Also Read - RCB के खिलाफ मैच से पहले राशिद ने चेताया- बीच के ओवरों में संभलकर खेलना होगा

ईरानी गार्ड ने समझौते को एक “शर्मनाक” समझौता और एक “नुकसानदेह कदम” बताया. समझौते पर अमेरिका ने भी हस्ताक्षर किया है. गार्ड ने चेतावनी दी कि इजराइल के साथ समझौता पश्चिम एशिया में अमेरिकी प्रभाव को वापस लाएगा, और अमीराती सरकार के लिए “खतरनाक भविष्य” लेकर आएगा. Also Read - IPL 2020 के बाद यूएई में ही खेली जाएगी भारत-इंग्लैंड सीरीज

ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने भी यूएई के इय कदम की निंदा की है. शनिवार को एक टेलिविजन भाषण में, उन्होंने चेतावनी दी कि संयुक्त अरब अमीरात ने इजराइल के साथ संबंधों को सामान्य बनाने की दिशा में समझौता कर एक बड़ी गलती की है. गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने गुरुवार को घोषणा की कि संयुक्त अरब अमीरात और इजराइल पूर्ण राजनयिक संबंध स्थापित करने के लिए सहमत हुए हैं. Also Read - IPL 2020: बेन स्टोक्स ने किया इशारा; जल्द हो सकते हैं यूएई के लिए रवाना

(इनपुट भाषा)