तेहरान: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर किए गए हमले में ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) के विशिष्ट कुद्स फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की हुई मौत से भड़के ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला सैय्यद अली खामेनी ने बदला लेने का संकल्प लिया है. आईआरजीसी ने कहा कि हशद शाबी या इराकी पॉपुलर मोबिलाइजेशन फोर्सेज (पीएमएफ) के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस भी सुलेमानी के साथ गुरुवार रात अमेरिकी हमले में मारे गए थे. बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट रोड पर उनके वाहन को निशाना बनाया गया. Also Read - Crude oil News: कोरोना के बढ़ते मामलों का असर, कच्चे तेल के दाम गिरे

हालांकि सुलेमानी के मारे जाने के बाद ईरान से सर्वोच्च नेता ने इस्माईल कानी को कुद्स बल का नया कमांडर नियुक्त कर किया है. मीडिया रिपोर्ट्स में खामनेई के एक बयान के हवाले से कहा गया है कि कुद्स फोर्स का कार्यक्रम पहले की ही तरह चलता रहेगा. गौरवशाली जनरल कासिम सुलेमानी की शहादत के बाद, मैं ब्रिगेडियर जनरल इस्माइल कनी का नाम इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स के कुद्स बल के कमांडर के रूप में नियुक्त करता हूं. Also Read - अमेरिका- चीन के बीच तनाव बढ़ने से शेयर बाजार में बिकवाली, सेंसेक्स 2,000 अंक टूटा


तेहरान स्थित प्रेस टीवी के अनुसार, यहां जारी एक बयान में खामेनी ने कहा कि “धरती के सबसे क्रूर लोगों ने’ ‘सम्मानीय’ कमांडर की हत्या की, जिन्होंने दुनिया की बुराइयों और डकैतों के खिलाफ साहसपूर्वक लड़ाई लड़ी.” उन्होंने कहा, “उनके निधन से उनका मिशन नहीं रुकेगा, लेकिन जिन अपराधियों ने गुरुवार रात जनरल सुलेमानी और अन्य शहीदों के खून से अपने हाथ रंगे हैं, उन्हें जरूर एक जबरदस्त बदले की, अंजाम भुगतने की प्रतीक्षा करनी चाहिए.”

खामेनी ने कहा कि जारी लड़ाई और अंतिम जीत की उपलब्धि हत्यारों और अपराधियों की जिंदगी को और दुश्वर बना देगी. सुलेमानी के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करने के अलावा, खामेनी ने तीन दिनों का शोक भी घोषित किया. सुलेमानी की मौत की खबर की पुष्टि पेंटागन ने भी की है.

(इनपुट आईएएनएस)