लंदन। योग गुरू बाबा रामदेव ने चौथे इंटरनेशनल योगा दिवस प ब्रिटेन के लंदन, कॉवेंट्री और ग्लासगो में योगा सत्रों का आयोजन किया. लंदन के ओलंपिया कॉम्प्लेक्स में हजारों लोगों ने योगा कार्यक्रम में हिस्सा लिया. मंगलवार को ग्लासगो में उनका अंतिम योग सत्र का आयोजन होगा. इस दौरान बाबा रामदेव ने लंदन में पतंजलि के कारोबार की संभावनाओं की ओर भी इशारा किया.

योगा हो रहा लोकप्रिय

52 साल के बाबा रामदेव का योग यहां खूब लोकप्रिय हो रहा है. योगा सत्र में काफी संख्या में लोग जुट रहे हैं. इसी दौरान उन्होंने ब्रिटेन में पतंजलि प्रोडक्ट की संभावनाओं की बात कही. पतंजलि योग पीठ इंग्लैंड में पहले से ही 140 प्रोडक्ट उपलब्ध कराता है. उन्होंने कहा कि मुझे यूके और यूरोप में कई प्रोडक्शन यूनिट लगाने के प्रस्ताव मिले हैं.

पतंजलि प्रोडक्ट की मांग तेज

बाबा रामदेव ने कहा, यहां के मार्केट में पतंजलि के प्रोडक्ट की मांग लगातार बढ़ती जा रही है और इसे लेकर बेहद उत्साह है. हम जल्द ही यहां के कानूनों के मुताबिक कोई फैसला लेंगे जो भारतीय कानूनों से बिल्कुल अलग हैं. बता दें कि बाबा रामदेव का जल्द ही लंदन के मैडम तुसाद म्यूजियम में मोम का पुतला लगाया जाएगा.

NISAU-UK फेलोशिप मिली

इनक्रेडिबल इंडिया की ओर से प्रमोट किए गए बाबा रामदेव के इंग्लैंड दौरे के दौरान उन्हें यहां नेशनल इंडियन स्टूडेंट्स एंड अलुमनाई यूनियन यूके (NISAU-UK)की ओर से योग के जरिए दुनिया को अपना योगदान देने के लिए फेलोशिप भी दी गई है. ये सम्मान उसी को दिया जाता है जिसने भारतीय संस्कृति, भारत के लिए योगदान या इंग्लैंड में भारतीय छात्रों के कल्याण में अपना योगदान दिया हो. इससे पहले श्री श्री रविशंकर, शबाना आजमी, जावेद अख्तर और पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी को ये सम्मान मिल चुका है.