ढाका: बांग्लादेश के कुमिल्ला शहर में इस्लाम धर्म के खिलाफ एक कथित फेसबुक पोस्ट के जरिए फैलाई गई अफवाह के चलते हिंदुओं के 10 से अधिक घर जला दिए गए. मीडिया रिपोर्ट में इस हादसे की पुष्टि की गई है. यह हमला रविवार को शहर के मुरादनगर इलाके में हुआ. बांगरा पुलिस स्टेशन के ओसी कमरुजमन तालुकदार ने कहा कि धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें से एक का नाम पुरबो धर है, जो एक किंडरगार्डेन स्कूल के हेडमास्टर हैं. Also Read - Video: बॉडी बिल्डर ने 'डॉल' संग रचाई शादी, सोशल मीडिया पर Viral

घटनास्थल का दौरा करने के बाद कुमिल्ला जिले के डिप्टी कमिश्नर मोहम्मद अब्दुल फजल मीर ने बीडीन्यूज 24 को बताया, “स्थिति अब नियंत्रण में है.” डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि स्थानीय लोगों ने तीनों घरों पर आगजनी की, जिनमें से दो गिरफ्तार व्यक्ति भी शामिल हैं. पुलिस के मुताबिक, फिलहाल फ्रांस में रहने वाले एक बांग्लोदेशी शख्स ने ‘अमानवीय विचारधाराओं’ के खिलाफ कदम उठाने के लिए फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन की प्रशंसा की. Also Read - दूसरी महिला के साथ बिस्तर में था पति, पत्नी ने रंगे हाथ पकड़ा, फिर वो किया जिसने सुना कांप गया...

एक स्थानीय निवासी के हवाले से बीडीन्यूज 24 ने बताया, स्कूल के हेडमास्टर पुरबो धर ने इस पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए मैक्रॉन की कार्रवाई पर अपना समर्थन जताया. हंगामा उस वक्त हुआ जब उस पोस्ट और उस पर की गई टिप्पणी के एक स्क्रीनशॉट को इस दावे के साथ फैलाया गया कि हेडमास्टर ने पैगंबर के बने एक कार्टून का समर्थन किया है. जैसे-जैसे यह स्क्रीनशॉट वायरल होता गया, वैसे-वैसे तनाव बढ़ता गया और आखिरकार घरों में तोड़फोड़ और आगजनी की घटना घट गई. Also Read - OMG! कोविड मरीजों के ईलाज में लगी नर्स का 8 महीने में इतना बुरा हाल, तस्वीरें Viral

(इनपुट-आईएएनएस)