दमिश्क : सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद ने इस्रायल व अमेरिका पर आरोप लगाते हुए कहा है कि, देश के दक्षिणी इलाके के भविष्य को लेकर मॉस्को की अगुवाई में चल रही बातचीत और समाधान में ये दोनों देश अड़ंगा डाल रहे हैं. सीरिया के राष्ट्रपति असद ने ईरान के अल-आलम टेलीविजन चैनल को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि देश के दक्षिणी हिस्से के भविष्य को लेकर मॉस्को की मध्यस्थता में बातचीत हो रही है, लेकिन इस्राइल और अमेरिका बातचीत से होने वाले समझौते में अवरोध पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं.

ईरान के अल – आलम टेलीविजन चैनल के साथ साक्षात्कार में असद ने कहा कि सत्ता समर्थक बलों ने अप्रैल में विद्रोहियों से दक्षिणी सीरिया का घौटा क्षेत्र  हथिया लिया था, जिसके बाद माना जा रहा था कि हम दक्षिण की तरफ और आगे बढ़ेंगे. उन्होंने कहा, हमारे पास दो ही रास्ते हैं या तो सुलह या बल प्रयोग, हम चाहते है कि सुलह की सम्भावना तलाशी जाए.

अमेरिका और इस्राइल पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, अब तक कोई ठोस परिणाम नहीं निकल पाने का मुख्य कारण इस्राइल और अमेरिका का इस इलाके में हस्तक्षेप है. दोनों देश उस इलाके के आतंकवादियों पर किसी भी समझौते या शांतिपूर्ण समाधान तक पहुंचने से रोकने के लिए दबाव बना रहे हैं, जिसके चलते अशांति बनी हुई है. उन्होंने कहा ऐसे में हमें दो परिस्थितयों का सामना करना पड़ रहा है. सुलह या बल द्वारा मुक्ति इस मुद्दे पर हमें रूसियों ने सुलह का अवसर तलाशने की संभावना का सुझाव दिया है.
(इनपुट एजेंसी )