यरूशलम: बेंजामिन नेतन्याहू के सत्ता से हटने के बाद इजराइल के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett) ने भारत और पीएम मोदी को लेकर बयान दिया है. इजराइल के पीएम ने कहा कि वह भारत के साथ ‘‘शानदार एवं मधुर संबंधों’’ को और मजबूत करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम करने को लेकर उत्सुक हैं. बेनेट ने यह बात मोदी के बधाई ट्वीट के जवाब में कही. बता दें कि बेनेट ने रविवार को नेसेट (संसद) द्वारा उन्हें इज़राइल के 13 वें प्रधानमंत्री के रूप में निर्वाचित करने के बाद पद की शपथ ली.Also Read - नीतीश कुमार ने कहा- जाति आधारित जनगणना के मुद्दे पर पीएम मोदी से मिलूंगा

यामिना पार्टी के नेता बेनेट (49) ने रविवार को इजराइल के नए प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली और इसके साथ ही बेंजामिन नेतन्याहू के देश में 12 साल से चले आ रहे शासन का अंत हो गया. मोदी ने बेनेट के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने पर उन्हें बधाई दी तथा कहा कि वह दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को और अधिक मजबूत बनाने के लिए उत्सुक हैं. Also Read - पेगासस जासूसी कांड: इजराइल ने एनएसओ के खिलाफ आरोपों की जांच शुरू की, अब खुलेंगे राज?

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा था, ‘‘इजराइल का प्रधानमंत्री बनने पर नफ्ताली बेनेट को बधाइयां. हम अगले साल अपने कूटनीतिक संबंधों के उन्नयन के 30 साल पूरे कर रहे हैं तथा इस अवसर पर मैं आपसे मुलाकात करने तथा दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को और अधिक मजबूत करने के लिए उत्सुक हूं.’’ Also Read - अगले लोकसभा चुनाव को लेकर बोले रामदास अठावले, '2024 में खेला नहीं सत्ता के लिए मोदी का मेला होगा'

इसके जवाब में बेनेट ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘‘धन्यवाद, श्री प्रधानमंत्री मोदी, मैं हमारे दोनों लोकतंत्रों के बीच ‘‘शानदार एवं मधुर संबंधों’’ को और मजबूत करने के लिए आपके साथ काम करने को लेकर उत्सुक हूं.’’

वहीं, इजराइल के वैकल्पिक प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री याइर लापिद ने सोमवार को कहा कि नयी सरकार भारत के साथ “रणनीतिक संबंधों को आगे बढ़ाने” के लिए काम करेगी. विदेश मंत्री एस. जयशंकर के बधाई संदेश के जवाब में लापिद ने ट्वीट किया, “मैं दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंधों को आगे बढ़ाने की दिशा में साथ काम करने की उम्मीद करता हूं और आशा है कि जल्द ही इजराइल में आपका स्वागत करेंगे.”

जयशंकर ने इससे पहले एक ट्वीट कर अपने इजराइली समकक्ष को बधाई दी थी. उन्होंने लिखा था, “इजराइल के वैकल्पिक प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री याइर लापिद को उनकी नियुक्ति पर बधाई. अपनी बहुआयामी रणनीतिक साझेदारी को और आगे ले जाने के लिए मिलकर काम करने को तत्पर हैं.”

येश आतीद पार्टी के प्रमुख लापिद सत्ता साझेदारी समझौते के तहत सितंबर 2023 में बेनेट से प्रधानमंत्री पद का दायित्व संभालेंगे और कार्यकाल पूरा होने तक दो साल के लिए इस पद पर रहेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इजराइल के नए प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले नफ्ताली बेनेट को बधाई देने के साथ ही अपने ट्वीट में नेतन्याहू के प्रति अपना “गहरा आभार” व्यक्त किया. मोदी ने भारत-इजराइल साझेदारी को ‘‘व्यक्तिगत तौर पर प्राथमिकता’’ देने के लिए नेतन्याहू का धन्यवाद व्यक्त किया.

मोदी के ट्वीट का जवाब देते हुए नेतन्याहू ने भारत और इजराइल के बीच मजबूत गठबंधन और उनकी व्यक्तिगत दोस्ती के लिए उन्हें धन्यवाद दिया. नेतन्याहू ने ट्वीट किया, “महान व्यक्तिगत मित्रता और इजराइल तथा भारत के बीच मजबूत गठबंधन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद.”

उन्होंने रविवार को नेसेट में अपने भाषण में भी अपने कार्यकाल के दौरान भारत के साथ प्रगाढ़ संबंध स्थापित होने का उल्लेख किया. इजराइली मीडिया में दोनों नेताओं के व्यक्तिगत संबंधों की अक्सर बात की जाती रही है और जुलाई 2017 में यहां की ऐतिहासिक यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी का शानदार स्वागत हुआ था और नेतन्याहू उनकी पूरी यात्रा के दौरान लगभग उनके साथ रहे थे.