रोमः प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंते की सरकार ने इटलीवासियों को ‘बहुत लंबे’ समय तक लॉकडाउन के लिए तैयार रहने को कहा है. सरकार की ओर से रविवार को कहा गया कि आर्थिक कठिनाईयों और नियमित दिनचर्या पर तकलीफदेह असर के बावजूद बंद धीरे-धीरे ही हटाया जाएगा. Also Read - कोरोना वायरस से प्रभावित टॉप 10 देशों की सूची में पहुंचा भारत, जून के अंत तक बहुत तेजी से बढ़ेंगे मामले

मंत्रियों और स्वास्थ्य अधिकारियों की ओर से यह संदेश ऐसे समय पर आया है जब इटली में संक्रमण का प्रकोप कम होता दिख रहा है. इस संक्रमण के कारण इटली में एक दिन में मौत का नवीनतम आंकड़ा 756 है जो शुक्रवार के 969 से कम है. यहां कोरोना वायरस संक्रमण की दर में कमी आई है और यह पहली बार छह फीसदी से कम हुई है. Also Read - पंजाब में कोविड-19 के 21 नए मामले सामने आये, कुल संख्या बढ़ कर 2,081 हुई

बहरहाल, सरकार का पूरा ध्यान लॉकडाउन खत्म होने की अंतिम तिथि तीन अप्रैल पर है. क्षेत्रीय मामलों के मंत्री फ्रांसेस्कोबो ने इटली के स्काई टीजी24 टेलीविजन से कहा, ‘‘तीन अप्रैल के बाद भी बंद की तारीख बढ़ायी जाएगी. मेरा मानना है कि इस वक्त लॉकडाउन को खत्म करने के बारे में बात करना अनुचित तथा गैर-जिम्मेदाराना है.’’ Also Read - शादी के तुरंत बाद दूल्‍हा-दुल्‍हन सीधे पहुंचे अस्‍पताल, कोरोना टेस्‍ट कराने के बाद पहुंचे घर

महामारी के प्रकोप से बेहाल इटली में लगभग सभी प्रकार की कारोबारी गतिविधियां बंद हैं. उप वित्त मंत्री लॉरा कास्टेली ने कहा कि 25 अरब के शुरुआती बचाव पैकेज को चौगुना करने की जरूरत पड़ सकती है. उन्होंने कहा, ‘‘ मेरे खयाल से कम से कम 100 अरब यूरो की जरूरत पड़ सकती है.’’ इटली में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अब तक 10,779 लोगों की मौत हो चुकी है.