रोम, 27 अगस्त (आईएएनएस)| इटली के पहाड़ी मध्य क्षेत्रों में बुधवार को आए 6.2 तीव्रता के शक्तिशाली भूकंप में अब तक 290 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच मारे गए लोगों के लिए शनिवार को दिनभर का राष्ट्रीय शोक मनाया गया। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, नॉर्सिया के दक्षिण-पूर्व से करीब 10 किलोमीटर दूर के क्षेत्र में तड़के 3.36 बजे आए भूकंप में मृतकों की संख्या बढ़कर 290 हो चुकी है, वहीं बुधवार शाम के बाद से कोई जीवित व्यक्ति नहीं मिला है। Also Read - Earthquake In Delhi-NCR: सुबह-सुबह भूकंप से कांपी धरती, रिक्टर स्केल पर 2.7 रही तीव्रता

Also Read - Amazing: इटली के इस शहर में 86 रुपये में बिक रहे हैं घर, आप खरीदेंगे क्या?

मृतकों में अधिकतर इटली वासी हैं, हालांकि कुछ विदेशी भी मारे गए हैं। इनमें ब्रिटेन के तीन नागरिक शामिल हैं। भूकंप पीड़ितों की याद में शनिवार को देश भर में राष्ट्रीय ध्वज को आधा झुकाया गया है। इटली के प्रधानमंत्री मत्तेओ रेंजी ने भूकंप से अरक्वाटा, अमात्रिस और अकुमोली और पेसकारा डेल ट्रोंटो के पीड़ितों के राजकीय अंतिम संस्कार में हिस्सा लिया। Also Read - Earthquake: 5 घंटे में भूकंप के 3 झटके लगे, 4.1 तीव्रता से हिली गुजरात की धरती

यह भी पढेंः इटली में भूकंप के बाद आपातकाल घोषित

‘बीबीसी’ की रपट के अनुसार, प्रभावित क्षेत्रों में शुक्रवार को आपात स्थिति की घोषणा की गई और पुनर्निर्माण के लिए पांच करोड़ यूरो (लगभग 5.5 करोड़ डॉलर) का कोष अलग किया गया है। भूकंप में मारे गए एक राजकीय अधिकारी के बेटे के लिए पहली अंत्येष्टि शुक्रवार को आयोजित की गई। यह मौत अमात्रिस में हुई थी। अधिकतर शव हवाई मार्ग से रीती शहर लाए गए हैं, जहां अधिकारी और रिश्तेदार शवों की पहचान कर रहे हैं।

करीब 388 लोगों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है, जबकि दो हजार लोग बेघर हो गए हैं। इटली सरकार की इस बात को लेकर आलोचना हो रही है कि वह 2009 में आए भूकंप के बाद नहीं जागी, जिसके कारण इतने लोगों की मौत हो गई। 2009 में आए भूकंप से करीब 300 लोगों की मौत हो गई थी।