नई दिल्ली: अलीबाबा समूह के जैक मा ने अपनी सेवानिवृत्ति से जुड़ी अफवाहों पर विराम देते हुए कहा कि कंपनी के कार्यकारी कार्यालय के बजाय समुद्र किनारे मरना पसंद करेंगे. जैक मा ने 10 सितंबर को अपने 54वें जन्मदिन के मौके पर घोषणा की थी कि वह एक साल में अलीबाबा के कार्यकारी चेयरमैन का पद छोड़ देंगे ताकि अगली पीढ़ी के नेतृत्व का रास्ता तैयार हो सके. Also Read - अलीबाबा के जैक मा को पछाड़ कर ये शख्स बना चीन का सबसे अमीर आदमी, जानें कितनी है संपत्ति?

उन्होंने कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डैनिएल झांग को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया है. उनकी सेवानिवृत्ति की घोषणा से ऐसी अफवाहें चलने लगी कि वह चीन में कारोबारी माहौल खराब हो जाने के कारण ऐसा कर रहे हैं. न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी खबर में कहा था कि चीन में कारोबारी माहौल खराब हो जाने और सरकारी दखल बढ़ने के कारण जैक मा सेवानिवृत्त हो रहे हैं. Also Read - रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी से छिना एशिया के सबसे बड़े धनकुबेर का ताज

ऐसी भी चर्चाएं गर्म थी कि उन्होंने विदेशों में संपत्तियां खरीद ली है और चीन से बाहर जा सकते हैं. जैक मा ने कहा, इससे फर्क नहीं पड़ता कि लोग क्या कहते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मैं अफवाहों पर गौर नहीं करता. दोस्तों के सामने आपको सफाई देने की जरूरत नहीं होती. जो दोस्त नहीं हैं, उन्हें आप जितनी सफाई देते हैं परिस्थितियां और बिगड़ेंगी.’’ Also Read - दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के संस्थापक जैक मा ने चेयरमैन का पद छोड़ा

उन्होंने कहा, ‘‘54 साल की उम्र में मैं इंटरनेट उद्योग में पुराना हो चुका हूं लेकिन कई अन्य क्षेत्रों के लिए बेहद युवा हूं.’’

(इनपुट: एजेंसी)