तोक्यो: जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने आगाह किया कि परमाणु निरस्त्रीकरण के संबंध में अमेरिका के साथ बातचीत की उत्तर कोरिया की पेशकश सिर्फ कुछ समय पाने का नाटक हो सकता है. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि प्योंगयांग को‘‘ ठोस कदम’’ उठाने चाहिए. उत्तर और दक्षिण कोरिया के बीच कूटनीतिक बातचीत के बाद इस संबंध में अपनी पहली सार्वजनिक टिप्पणी में आबे ने कहा कि सिर्फ बातें करने के लिए वार्ता करना‘‘ अर्थहीन’’ है. Also Read - डोनाल्‍ड ट्रंप का ऑफर, भारत ने कहा- चीन के साथ सीमा विवाद पर बातचीत कर रहे हैं

आबे ने सांसदों से कहा, ‘‘ मैंने बार- बार कहा है कि हमें उत्तर कोरिया पर अधिकतम दबाव बनाने के लिए परिस्थितियां तैयार करनी होंगी, ताकि उत्तर कोरिया हमसे वार्ता करना चाहे.’’ प्रधानमंत्री ने चेताया, ‘‘ हालांकि, यह सही है कि अतीत में उत्तर कोरिया ने वार्ता के दौरान मिले वक्त का इस्तेमाल कर परमाणु क्षमता और मिसाइलें विकसित की हैं.’’ Also Read - हांगकांग के मुद्दे पर अमेरिका-चीन ने एक-दूसरे पर तीखे हमले किए, ड्रैगन के पक्ष में रूस उतरा

उन्होंने कहा, ‘‘ सिर्फ बातचीत करने के लिए वार्ता करना अर्थहीन है, और सिर्फ इसलिए की उत्तर कोरिया बातचीत करने को तैयार है, हमें प्रतिबंध नहीं हटाने चाहिए.’’ उत्तर कोरिया ने हाल ही में दक्षिण कोरिया के साथ हुई बातचीत में कहा है कि अपनी सुरक्षा की गारंटी के एवज में वह परमाणु कार्यक्रम बंद करने को तैयार है. Also Read - focal Dystonia Is A Neurological Disorder इस दिमागी बीमारी से ग्रसित है नॉर्थ कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन, दिमाग अंगों को नहीं देता निर्देश, जानें क्या है सच