अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने दो भारतीय-अमेरिकी चिकित्सकों को अपने प्रशासन में प्रमुख पदों के लिए नामित किया है.Also Read - अमेरिका के 245वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी ने जो बाइडेन से क्या कहा, जानिए

वेस्ट वर्जीनिया के पूर्व स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. राहुल गुप्ता को मंगलवार को राष्ट्रीय औषधि नियंत्रण नीति कार्यालय के निदेशक पद के लिए नामित किया गया है. भारतीय-अमेरिकी सर्जन एवं लोकप्रिय लेखक अतुल गावंडे को ‘यूएस एजेंसी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट’ (यूएसएआईडी) में एक वरिष्ठ पद के लिए नामित किया है. Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने कहा- अफगानिस्तान अपना भविष्य खुद तय करे, हम आपके साथ रहेंगे

प्राथमिक देखभाल चिकित्सक के तौर पर 25 साल तक अपनी सेवाएं दे चुके गुप्ता वेस्ट वर्जीनिया के स्वास्थ्य आयुक्त के रूप में दो गवर्नर के अधीन काम कर चुके हैं. राज्य के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के रूप में, उन्होंने ‘ओपिओइड’ संकट प्रतिक्रिया प्रयासों का नेतृत्व किया और कई अग्रणी सार्वजनिक स्वास्थ्य पहल शुरू की . Also Read - अमेरिका में 150 दिन में 30 करोड़ टीके लगाए गए, बाइडन बोले- जल्दी ही खुशियां आएँगी

वहीं, गावंडे ने ‘कॉम्प्लीकेशंस’, ‘बेटर’, ‘द चेकलिस्ट मेनिफेस्टो’ और ‘बीइंग मॉर्टल’ किताब लिखी हैं, जो न्यूयॉर्क में काफी बिकी तथा लोक्रपिय भी हुईं.

गावंडे ने ट्वीट किया, ‘‘कोविड-19 सहित ‘ब्यूरो फॉर ग्लोबल हेल्थ’ का नेतृत्व करने के लिए चुने जाने को लेकर में गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं. विश्वभर में 2020 की तुलना में 2021 के पहले छह महीने में अधिक लोगों की मौत कोविड-19 के कारण हुई, मैं आभारी हूं कि मुझे इस संकट को खत्म करने और विश्व स्तर पर जन स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने का मौका मिला है.

गावंडे ‘ब्रिघम एंड वीमेन हॉस्पिटल’ में सर्जरी के प्रतिष्ठित प्रोफेसर हैं. वह ‘ब्रिघम एंड वीमेन हॉस्पिटल’, ‘हार्वर्ड टीएच स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ’ और एक गैर सरकारी संगठन ‘लाइफबॉक्स’ के एक संयुक्त केन्द्र ‘एरियाडेन लैब्स’ के संस्थापक एवं अध्यक्ष भी हैं.