Joe Biden US President Inauguration: जो बाइडेन आज दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क और दुनिया की सबसे मजबूत अर्थव्स्था वाले देश अमेरिका के राष्ट्रपति बन गए हैं. अब से कुछ देर पहले जो बाइडेन ने अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली.Also Read - कोई नहीं है टक्कर में, दुनिया के नंबर वन नेता हैं पीएम मोदी, बाइडन-जॉनसन सब रह गए पीछे, देखें तस्वीरें.

बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है. पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों को रोकने के लिए कैपिटल बिल्डिंग (संसद भवन) के आसपास हजारों सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. डेमोक्रेटिक नेता बाइडन (78) को प्रधान न्यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स ने कैपिटल बिल्डिंग के ‘वेस्ट फ्रंट’ में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी. Also Read - 5G Effect On Aviation: अमरीका में 5G सेवाओं को लेकर Aviation सेक्टर परेशान | हजारों उड़ानें रद्द होने का खतरा

इस बार समारोह में कम लोगों को आमंत्रित किया गया है और नेशनल गार्ड के 25,000 से अधिक जवान सुरक्षा में तैनात हैं. अपने शपथ समारोह के दौरान जो बाइडेन ने कई बड़ी बातें कहीं. Also Read - Covid 19 USA: अमेरिका में कोरोना से 8.51 लाख लोग एक दिन में संक्रमित, मदद के लिए भेजी गई अमेरिकी सेना

राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि हमने जिंदगी में बहुत सारी चुनौतियां देखी है और इस समय पूरी दुनिया की नजरे अमेरिका पर हैं. अमेरिका में सबको सम्मान मिलेगा. अमेरिका की सेना सशक्त है, हर चुनौती के लिए तैयार है. मैं अमेरिका के सभी लोगों का राष्ट्रपति हूं. मैं उनका भी राष्ट्रपति हूं जिन्होंने मुझे वोट नहीं दिया. मैं सबकी तरक्की और सबकी रक्षा के लिए हूं.

उन्होंने कहा, ‘‘आज का दिन अमेरिका का है. यह लोकतंत्र का दिन है. यह इतिहास और आशा का दिन है.’’ बाइडन ने कहा, ‘‘आज हम एक उम्मीदवार की जीत का नहीं, बल्कि एक उद्देश्य की, लोकतंत्र के उद्देश्य की जीत का उत्सव मना रहे हैं.’’

देश के नए राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘जनता की इच्छाओं को सुना और समझा गया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘श्वेतों को श्रेष्ठ मानने की मानसिकता, घरेलू आतंकवाद को हराएंगे. मैं चाहता हूं कि प्रत्येक अमेरिकी हमारी इस लड़ाई में शामिल हो.’’

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि आज हम एक उम्मीदवार की नहीं बल्कि लोकतंत्र की जीत का जश्न मना रहे हैं. लोगों को सुना गया है. हमने फिर से सीखा है कि लोकतंत्र अनमोल है, लोकतंत्र प्रबल है. जो बाइडेन ने कहा कि मुझे पता है कि हमें विभाजित करने वाली ताकतें गहरी हैं और वे वास्तविक हैं. लेकिन मुझे ये भी पता है कि वो नई नहीं हैं. हमारा इतिहास एक निरंतर संघर्ष रहा है.

जो बाइडेन से पहले भारतीय मूल की कमला हैरिस ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली. कमला हैरिस अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति हैं. बता दें कि कमला हैरिस भारतीय मूल की महिला हैं.