इस्लामाबाद: पाकिस्तान के रावलपिंडी के एक उच्च सुरक्षा वाले इलाके में अज्ञात हमलावरों ने एक पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी. पुलिस ने बताया कि पेशे से पत्रकार अंजुम मुनीर राजा गुरूवार देर रात को मोटरसाइकिल से घर लौट रहे थे जब मोटरसाइकिल सवार हमलावरों ने उनका पीछा किया और फिर उनपर गोलीबारी की. उनकी उम्र 40 बताई जा रही है. Also Read - पाकिस्तान में चीन की तुलना में काफी तेजी से फैल रहा है कोरोना वायरस, बेहद ख़राब हो सकते हैं हालात

डॉन न्यूज की खबर के अनुसार घटना बैंक रोड पर हुई जो पाकिस्तानी सेना के राष्ट्रीय मुख्यालय से कुछ ही मिनट की दूरी पर है. राजा के सिर, गर्दन और धड़ में छह गोलियां मारी गयीं जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गयी. इसके बाद हमलावर फरार हो गए. Also Read - अब विदेश मंत्रालय प्रवक्ता होंगे अनुराग श्रीवास्तव, इस देश में रह चुके हैं भारत के राजदूत

राजा के रिश्तेदार तारिक महमूद ने कहा कि राजा का एक पांच साल का बेटा है और वह सुबह में एक स्कूल में पढ़ाते थे तथा शाम को इस्लामाबाद के एक उर्दू अखबार में सब-एडिटर के रूप में काम करते थे. महमूद ने कहा कि राजा की किसी से निजी रंजिश नहीं थी और इस तरह के उच्च सुरक्षा वाले इलाके में हत्या होने पर हैरानी जतायी. Also Read - उत्तरी कश्मीर में मुठभेड़ में पांच आतंकी ढेर, पांच भारतीय जवान भी हुए शहीद

खबर के मुताबिक पत्रकार समुदाय ने हत्या की निंदा करते हुए हमलावरों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की. उन्होंने सभी पत्रकारों के लिए सुरक्षा की भी मांग की और राजा के हत्यारों को जल्द गिरफ्तार ना किए जाने पर विरोध प्रदर्शन की धमकी दी.

बता दें पाकिस्तान दुनिया के उन सबसे खतरनाक देशों में शामिल है जहां पत्रकार असुरक्षित हैं. पिछले साल फ्रांस स्थित वॉचडॉग रिपोर्टर विन्ड बॉर्डर्स (आरएसएफ) द्वारा मई में प्रकाशित अपनी वार्षिक प्रेस फ्रीडम रिपोर्ट में इस बात की जानकारी दी गई थी। आरएसएफ द्वारा संकलित 2017 वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम इंडेक्स के मुताबिक, पाकिस्तान 180 देशों की इस लिस्ट में 139वें स्थान पर है. पाकिस्तान में पिछले 15 सालों में कम से कम 117 पत्रकारों की हत्या की जा चुकी है.