इस्लामाबाद: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को घोषणा करते हुए कहा कि करतारपुर परियोजना अपने अंतिम चरण में है. उन्होंने कहा कि यह परियोजना 9 नवंबर को जनता के लिए खोली जाएगी. इमरान ने कहा, “करतारपुर परियोजना पर निर्माण कार्य अंतिम चरण में है और पाकिस्तान दुनिया भर के सिखों के लिए अपने दरवाजे खोलने के लिए पूरी तरह तैयार है.” प्रधानमंत्री ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि जैसा कि पहले वादा किया गया था, यह परियोजना 9 नवंबर को जनता के लिए खोली जाएगी.

उन्होंने कहा, “दुनिया के सबसे बड़े गुरुद्वारे में भारत और दुनिया के अन्य हिस्सों से सिख (श्रद्धालु) आएंगे.” पाकिस्तान पर परियोजना के सकारात्मक प्रभाव के बारे में चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा, “यह सिख समुदाय के लिए एक प्रमुख धार्मिक केंद्र बनेगा और स्थानीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देगा, जिसके परिणामस्वरूप देश के लिए विदेशी मुद्रा अर्जित होगी और विभिन्न क्षेत्रों में नौकरियां पैदा होंगी.”

इमरान ने कहा, “पाकिस्तान में धार्मिक पर्यटन बढ़ रहा है. इससे पहले, बौद्ध भिक्षुओं ने धार्मिक अनुष्ठानों के लिए विभिन्न स्थलों का दौरा किया, इसके बाद करतारपुर कॉरिडोर (गलियारा) खोला गया.” शनिवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने घोषणा की थी कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने नौ नवंबर को होने वाले करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने का निमंत्रण स्वीकार कर लिया है. लेकिन वह एक विशेष अतिथि के तौर पर नहीं बल्कि एक आम व्यक्ति की तरह पाकिस्तान जाएंगे.

(इनपुट आईएएनएस)