दोहा: पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या मामले को लेकर तुर्की के विदेश मंत्री ने शनिवार को कहा कि उनका देश सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की वाणिज्य दूतावास के भीतर हत्या के मामले की सच्चाई को सामने लाने से पीछे नहीं हटेगा. बता दें कि वाशिंगटन पोस्ट के पत्रकार जमाल खशोगी की गत 2 अक्टूबर को तुर्की दूतावास में उस समय हत्या कर दी गई थी जब वो अपने विवाह के लिए जरूरी दस्तावेज लेने दूतावास गए थे. बाहर उनकी मंगेतर उनके वापस आने का इन्तजार करती रही लेकिन वो फिर कभी नहीं लौटे. Also Read - Crude oil price: सऊदी अरब ने किया कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती का वादा, 11 महीने के उच्च स्तर पर पहुंचा कच्चा तेल

Also Read - थलसेना प्रमुख जनरल नरवणे यूएई, सऊदी अरब के लिए रवाना हुए, जानिए क्यों अहम है ये यात्रा

सऊदी अरब के दूतावास में जमाल खशोगी ने हत्या से पहले कहा था- मैं सांस नहीं ले पा रहा Also Read - फ्रांस की चिंगारी से इस्‍लामी देशों के बीच दो धड़ों की गुटबंदी तेज, बायकाट की जंग बढ़ी

विदेश मंत्री मेवलट चावुसोग्लू ने एक सम्मेलन से इतर कहा, ‘‘हमें सऊदी अरब की ओर से जांच के बारे में कोई नई जानकारी नहीं मिली है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ तुर्की इस पर पीछे नहीं हटेगा, हम अंत तक जाएंगे.’’ गौरतलब है कि इस माह की शुरूआत में मंत्री ने कहा था कि तुर्की दो अक्टूबर को हुई इस हत्या के मामले की संभावित अमेरिकी जांच पर बातचीत कर रहा है. तुर्की के अधिकारियों का दावा है कि सऊदी शासन के धुर आलोचक, 59 वर्षीय खशोगी की सऊदी अरब के ही 15 लोगों के एक दल ने हत्या कर उनके शव के टुकड़े-टुकड़े कर उसे ठिकाने लगा दिया. तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन का कहना है कि खशोगी की हत्या सऊदी सरकार के उच्च स्तर से मिले आदेश पर हुई. (इनपुट एजेंसी)

जमाल खाशोगी का ‘अंतिम कॉलम’ प्रकाशित, वापसी की उम्मीदें खत्म !