लाहौर: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में दो चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है. उन पर आरोप है कि उन्होंने एक पाकिस्तानी लड़की को दोनों आरोपियों में से एक से शादी करने को मजबूर किया और जब उसने इनकार किया तो उन्होंने उसकी हत्या की कोशिश की. एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई. मई में एक महिला सहित आठ चीनी नागरिकों को पाकिस्तानी लड़कियों की शादी करा कर तस्करी के जरिए चीन भेजने और वहां उन्हें देह व्यापार में धकेलने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

सोमवार को डॉन न्यूज की ओर से दी गई एक खबर के मुताबिक, एक महिला ने पुलिस को बताया कि उसकी छोटी बहन दो चीनी नागरिकों के साथ एक अनुवादक के तौर पर काम करती रही है. दोनों उसकी बहन को मोबाइल पर फोन कर-करके उसे शादी के लिए राजी करने की कोशिश करते थे. महिला ने प्राथमिकी में कहा है कि दोनों आरोपी चीनी नागरिकों में से एक ने उसकी बहन को बुलाया और उससे चाकरी रोड पर आने के लिए कहा, क्योंकि वे उससे मिलना चाहते थे. महिला अपनी बहन और दो पुरुष मित्रों को साथ लेकर उनसे मिलने चाकरी रोड गई. उसने दावा किया कि जल्द ही दोनों चीनी नागरिक एक कार में वहां पहुंचे और उसकी छोटी बहन के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने लगे और उसकी गर्दन दबाकर उसे जान से मारने की कोशिश करने लगे., लेकिन लड़की के साथ गए पुरुषों ने उसे बचा लिया.

अखबार ने सब-इंस्पेक्टर नाजिम हुसैन के हवाले से कहा है कि प्राथमिकी दर्ज होने के बाद दोनों संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया गया है. संदिग्धों को एक अदालत में पेश किया गया, जिसने उसे न्यायिक हिरासत के तहत अडियाला जेल भेज दिया. शुरुआती जांच के मुताबिक, दोनों आरोपी उस चीनी समूह का हिस्सा हैं जो पाकिस्तानी लड़कियों की इस तरह से शादी कराने के मामलों में कथित तौर पर शामिल रहा है, लेकिन अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि यह चीनी नागरिक पाकिस्तान में वैध तरीके से रह रहे थे या नहीं. बहरहाल, इस्लामाबाद में एक वरिष्ठ चीनी अधिकारी ने मीडिया में किए जा रहे इन दावों को नकारा है कि पाकिस्तानी महिलाओं को चीन में देह व्यापार में धकेला जा रहा है और उनके शरीर के अंगों को अवैध रूप से बेचा जा रहा है.

शर्मनाकः इस गुजराती हैवान ने 300 बच्चियों को बेच डाला, हर एक की कीमत लगाई 45 लाख

अमेरिका में पाक PM इमरान खान का वादा- दुनिया की सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट टीम कर रहे हैं तैयार