तोक्यो: जापान में गुरुवार को आए भूकंप से खूब तबाही हुई है. इससे कई लोगों के मरने और घायल होने की खबरें हैं. इतना ही भूकंप से हुए भूस्खलन में कई लोग लापता हैं. मिली खबरों के मुताबिक, जापान के होकायिदो द्वीप में गुरुवार को तड़के आए भूकंप में अब तक आठ लोगों की मौत हो गई है. वहीं, स्थानीय मीडिया के मुताबिक 40 लोग लापता हैं. भूकंप से कई घर ढह गए हैं और भूस्खलन की वजह से दर्जनों लोग लापता हैं. लाखों घरों में विद्युत आपूर्ति ठप हो गई है. इस सप्ताह के शुरुआत में आए तूफान और उसके बाद अब आए भूकंप की वजह से इस क्षेत्र के लोग प्रभावित हुए हैं. कम आबादी वाले ग्रामीण इलाकों में बड़े पैमाने पर भूस्खलन की घटना हुई है. Also Read - कोरोना वायरस: भारत सरकार ने जारी की नई एडवाइजरी, चार देशों के नागरिकों को 3 मार्च तक जारी वीजा निलंबित

प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण में पाया गया कि पहाड़ों के बीच स्थित दर्जनों घरों को क्षति पहुंची है. राहत एवं बचाव हेलीकॉप्टर लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की कोशिश में लगे हुए हैं. बिजली आपूर्ति करने वाले एक मुख्य थर्मल संयंत्र को पहुंची क्षति से करीब 30 लाख घरों में अंधेरा छाया हुआ है. जापान की मौसम विज्ञान एजेंसी ने कहा कि दक्षिणी होक्काइडो में 6.7 की तीव्रता वाला भूकंप स्थानीय समय के मुताबिक 3:08 बजे 40 किलोमीटर की गहराई पर इसका केंद्र था. Also Read - CoronaVirus: जापान क्रूज में फंसे 119 भारतीयों की सफल घर वापसी, 5 विदेशी नागरिक भी शामिल

प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने आपातकालीन कैबिनेट बैठक के बाद कहा, ‘हम लोगों को सुरक्षित बचाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे.’ सरकारी प्रवक्ता योशिहीदे सुगा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि 8 लोगों की मौत हो गई है और स्थानीय मीडिया के मुताबिक 40 लोग लापता हैं. Also Read - असम, नागालैंड के कुछ हिस्सों में महसूस किए गए भूकंप के झटके, कोई नुकसान नहीं

स्थानीय मीडिया ने बताया कि मरने वालों में एक 82 साल के बुजुर्ग व्यक्ति शामिल हैं जो भूकंप के दौरान सीढ़ियों से गिर गए थे. करीब 130 लोगों को हल्की चोट आई है. जापान की परमाणु नियामक अथॉरिटी ने बताया कि तोमारी परमाणु संयंत्र के तीन रियेक्टरों को बैकअप जेनरेटर की मदद से चलाया जा रहा है, क्योंकि द्वीप में बिजली की आपूर्ति ठप्प पड़ गई है और यातायात व्यवस्था चरमरा गई है. भूकंप की वजह से सपोरो में फोन सेवा और टेलिविजन प्रसारण भी प्रभावित हुआ है.