tripuli

representational picture

Also Read - PM मोदी ने देशवासियों से की अपील, सैनिकों के सम्मान में एक दिया जरूर जलाएं

त्रिपोली 22 मई: लीबिया के बेंघाजी में बुधवार रात टोब्रुक में हिंसक झड़प में देश के नौ सैनिक मारे गए। लीथी के पास हुई इस झड़प में विशेष बल के 35 सैनिक घायल हो गए। दैनिक ‘लीबिया हेराल्ड’ के मुताबिक, यह हमला जनरल खलीफा हाफ्तर द्वारा एक साल पहले ऑपरेशन डिग्निटी शुरू करने के बाद से टोब्रुक से जुड़े हथियारबंद गिरोहों के सबसे बुरे हमलों में से एक है। यह भी पढ़े:अल्जीरिया में 22 आतंकवादी मारे गए Also Read - Video: सैनिकों के लिए ‘बिना बुलेट प्रूफ वाले वाहन’..! राहुल गांधी ने सरकार पर साधा निशाना

Also Read - क्या सिचाचिन में तैनात जवानों को नहीं मिल रही भरपूर कैलोरी की मात्रा? सरकार ने दिया ये जवाब

हाफ्तर ने उसके बाद ही बेंघाजी में बमबारी तेज कर दी। हाफ्तर 1970 के दशक में दिवंगत मुआम्मर गद्दाफी का दोस्त थे, लेकिन बाद में वह गद्दाफी के मुख्य विरोधियों में से एक थे। हाफ्तर का सशस्त्र समूह बेंघाजी में अंसर अल-शरियत जैसे जिहादी समूहों और सरकार से संबद्ध कुछ अन्य सशस्त्र समूहों से संघर्षरत है। लीबिया में 2011 से अराजकता और गृहयुद्ध की स्थिति है, जब अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने तानाशाह गद्दाफी का तख्तापलट करने में मदद की थी।