Lockdown: ब्रिटेन में कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए लॉकडाउन चल रहा है. पर इस बीच ऐसे मामले बढ़ गए हैं, जिसकी वहां के प्रशासन को उम्मीद नहीं थी. Also Read - World Environment Day 2020: इन आइडियाज के साथ इस बार घर पर रहकर ही मनाएं विश्व पर्यावरण दिवस

पिछले कुछ समय में लंदन में घरेलू हिंसा के मामले तेजी से बढ़े हैं. पिछले 6 सप्ताह से 19 अप्रैल तक लंदन में 4,093 लोगों की गिरफ्तारी की गई. यह आंकड़ा औसतन प्रतिदिन लगभग 100 व्यक्तियों का रहा. Also Read - इरफान पठान बोले-कोरोना के बाद गेंदबाजों की चोट बन सकती है परेशानी का सबब, दी अहम सलाह

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने मेट्रोपोलिटन पुलिस के लीड फॉर सेफगार्डिग कमांडर सू विलियम्स के दिए बयान के हवाले से कहा, “पिछले साल की तुलना में 9 मार्च से घरेलू हिंसा के मामलों में 24 प्रतिशत की वृद्धि हुई. इसकी एक मुख्य वजह कोविड-19 के लक्षणों वाले लोगों का घरों में सेल्फ आइसोलेशन में रहना है.” Also Read - WATCH: कड़कती बिजली के बीच धोनी ने निकाली बाइक, बेटी जीवा को कराई सैर

पुलिस ने कहा, “अपराधों के रूप में दर्ज नहीं होने वाली व पारिवारिक झगड़े के रूप में शामिल घरेलू घटनाओं में 9 मार्च से 19 अप्रैल के बीच 9 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई, जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 3 प्रतिशत था.”

पुलिस ने बताया कि लंदन में घरेलू हिंसा से संबंधित दो हत्याएं दर्ज हुई हैं.

विलियम्स ने कहा, “कोविड-19 की रोकथाम के मद्देनजर लगाए गए प्रतिबंध और ‘स्टे एट होम’ के निर्देश इस सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट के प्रबंधन के लिए महत्वपूर्ण हैं, लेकिन दुर्भाग्य से इससे घरेलू दुर्व्यवहार की घटनाओं में वृद्धि हुई है.”

ब्रिटेन में अब तक 20 हजार 794 मौतों के साथ कोरोनावायरस संक्रमण के एक लाख 54 हजार 37 मामले सामने आए हैं.
(एजेंसी से इनपुट)