लंदनः सिख राजा महाराजा रंजीत सिंह की पत्नी महारानी जिंदन कौर का एक पुराना हार लंदन में हुई एक नीलामी में 1,87,000 पाउंड यानी करीब पौने दो करोड़ रुपये की भारी-भरकम कीमत में बेचा गया. एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. कौर रंजीत सिंह की कई पत्नियों में अकेली ऐसी थी जो सती नहीं हुई थीं. यह हार उन्हीं का था. हीरे एवं जवाहरात जड़ित इस हार की अनुमानित कीमत 80 हजार से 1,20,000 पाउंड के बीच आंकी गई थी और नीलामी में इसकी कीमत इससे ज्यादा मिली.

नीलामीघर बोनहाम्स इस्लामिक एंड इंडियन आर्ट सेल ने इस हार की नीलामी कराई. इस हार समेत अंग्रेजी राज के समय के विभिन्न सामानों की नीलामी से कुल 1,818,500 पाउंड की राशि प्राप्त हुई. रंजीत सिंह के निधन के बाद कौर ने अपने पांच साल के बेटे दिलीप सिंह की गद्दी बचाने के लिये 1843 में अंग्रेजों के खिलाफ सशस्त्र युद्ध का नेतृत्व किया था. हालांकि उन्हें पकड़ लिया गया था और कैद कर दिया गया था. बाद में वह कैद से फरार होकर काठमांडू पहुंच गईं जहां उन्हें नजरबंद रखा गया. बाद में वह इंग्लैंड पहुंची जहां उनको उनके बेटे मिलवाया गया और उनके गहने लौटा दिए गए. इस नीलामी में पंजाब के शेर के नाम से मशहूर रंजीत सिंह के तरकश और अन्य सामानों को भी नीलाम किया गया.

(इनपुट भाषा)