लंदन: पिछले महीने बकिंघम पैलेस में घुसकर कांच की अलमारी में सोने वाले एक बेघर व्यक्ति को शनिवार को गैरकानूनी तरीके से महारानी एलिजाबेथ के घर में घुसने पर जेल की सजा सुनाई गई. अपराध के 18 दिन बाद उसे सजा सुनाई गई.

लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत को शुक्रवार को बताया गया कि स्टीवन लॉलर 16 जुलाई को धातु की रेलिंग पार करके पैलेस में घुसा था और उसने सोने के लिए एक अलमारी का इस्तेमाल किया था. सुरक्षाकर्मियों ने सीसीटीवी में 44 साल के इस व्यक्ति को सोते हुए देखकर उसे गिरफ्तार किया. उस समय महारानी घर में नहीं थीं.

लॉलर ने संरक्षित स्थल पर वस्तुओं को नुकसान पहुंचाने और गैरकानूनी प्रवेश का अपराध कबूला और उसे गैरकानूनी प्रवेश के लिए 28 दिन और वस्तुओं को नुकसान पहुंचाने के लिए 21 दिन की जेल की सजा सुनाई. दोनों सजाएं एक साथ चलेंगी.