बीजिंग। वियाग्रा जैसी दवा बनाने वाली एक कंपनी ने दावा किया है कि चीन में करीब 14 करोड़ पुरुष नपुंसक हैं. इस रिपोर्ट के बाद कंपनी के शेयरों में तेज उछाल दर्ज की गयी है. हांगकांग स्थित अखबार साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक हेबेई चांगशान बायोकेमिकल फार्मास्यूटिकल के शेयर शेनझेन शेयर बाजार में बुधवार को 10 प्रतिशत की अधिकतम दैनिक सीमा तक चढ़ गए. Also Read - हांगकांग में नकाब पहनने पर प्रतिबंध के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन, रेल सेवाएं हुईं बंद

कंपनी के शेयर आज भी मजबूत हुए. साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने द बीजिंग न्यूज के हवाले से कहा , कंपनी के दावे में दक्षिणी जियांग्सु प्रांत स्थित एक सहयोगी इकाई की घोषणा को भी शामिल किया गया था. सहयोगी इकाई ने घोषणा किया था कि उसे नियामकों ने सिल्डेनाफिल साइट्रेट टैबलेट के उत्पादन की मंजूरी दे दी है. इस रसायन का इस्तेमाल वियाग्रा में किया जाता है जो नपुंसकता के निराकरण में कारगर है. Also Read - चीन ने अमेरिका, ब्रिटेन को दी नसीहत, कहा- हमारे इस मामले में सोच समझकर बोलें

कंपनी ने दावा किया था कि अगर 30 प्रतिशत नपुंसक लोग भी इलाज करायें तो चीन में इस उत्पाद का अरबों युआन का बाजार है. Also Read - फ्लाइट में टाइट स्कर्ट पहने महिला पायलट को देखते ही 'बेकाबू' हो जाते हैं पैसेंजर, करते हैं ऐसी हरकत