वाशिंगटन : माइक पोम्पिओ ने अमेरिका के 70 वें विदेश मंत्री के रूप में शपथ ली. इससे पहले उनके नस्लवादी बयान को लेकर डेमोक्रेट सदस्यों ने उनके प्रति विरोध जताया था. हालांकि अमेरिकी सीनेट ने उनके नामांकन की पुष्टि पहले ही कर दी थी. Also Read - डोनाल्ड ट्रम्प ने पीएम मोदी को जन्मदिन की दी बधाई, कहा वो हैं ‘‘महान नेता, मेरे विश्वसनीय मित्र’’

पोम्पिओ सबसे पहले ब्रसेल्स, रियाद, यरुशलम और अम्मान की यात्रा करेंगे
शपथ ग्रहण समारोह के तुरंत बाद अमेरिका के विदेश विभाग ने बताया कि नव निर्वाचित अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पिओ विभिन्न देशों से महत्वपूर्ण सम्बन्ध बनाने के क्रम में विदेश मंत्री के तौर पर सबसे पहले ब्रसेल्स, रियाद, यरुशलम और अम्मान देश की यात्रा करेंगे. Also Read - पूरी दुनिया चीन के खिलाफ एकजुट होना शुरू हो गई है: US विदेश मंत्री पोम्पिओ

42 के मुकाबले 57 मत पोम्पिओ को मिले
इससे पहले सीनेट ने पूर्व सीआईए निदेशक पोम्पिओ के नाम की 42 के मुकाबले 57 मतों से पुष्टि की. माइक पोम्पिओ ने रेक्स टिलरसन की जगह ली जिन्हें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गत महीने बर्खास्त कर दिया था. विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश सैमुअल अलितो ने अदालत के वेस्ट कांफ्रेंस कक्ष में माइक पोम्पिओ को विदेश मंत्री पद की शपथ दिलाई. Also Read - Pfizer-BioNTech ने तैयार कर ली कोरोना की सबसे बेहतर वैक्सीन, जो तहलका मचा देगी..

डोनाल्ड ट्रंप ने नव निर्वाचित विदेश मंत्री पोम्पिओ को बधाई दी
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पोम्पिओ को बधाई देते हुए कहा – “प्रतिभावान, ऊर्जावान और बुद्धिमान माइक जैसा देशभक्त व्यक्ति अगर विदेश विभाग का नेतृत्व करता है तो यह अमेरिका के इतिहास का महत्वपूर्ण अध्याय होगा पोम्पिओ का कार्यकाल हमारे देश के लिए बेहद महत्वपूर्ण होगा”. अमेरिकी राष्ट्रपति ने साथ ही पोम्पिओ पर पूर्ण विश्वास जताते हुए कहा कि -‘ माइक हमेशा अमेरिका के हितों को आगे रखेंगे. मेरा उनपर भरोसा है. मेरा समर्थन उनके साथ है. अमेरिका का 70 वां विदेश मंत्री बनने पर मैं उन्हें बधाई देता हूं’. अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने भी ट्वीट करके पोम्पिओ को बधाई दी.

 

(इनपुट एजेंसी)