कराची: पाकिस्तान के प्रमुख शहरों में मुहर्रम के दिन दूध की कीमत सांतवें आसमान पर पहुंच गई. पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कराची और सिंध प्रांतों में दूध की कीमत में भारी उछाल देखने को मिला. दूध की कीमत नियंत्रण से बाहर होकर 140 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गई.

दिलचस्प बात तो ये है कि पाकिस्तान में पेट्रोल और डीजल की कीमतें दूध की की तुलना में कम हैं. दो दिन पहले तक जहां पेट्रोल 113 रुपये प्रति लीटर और डीजल 91 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था वहीं सिंध के कुछ हिस्सों में दूध 140 रुपये प्रति लीटर बेचा जा रहा था. दूध की कीमत में इस बढ़ोत्तरी की वजह मुहर्रम में इसकी बढ़ती मांग को बताया जा रहा है. मुहर्रम के इस महीने में जुलूस में भाग लेने वालों के लिए जगह जगह दूध और जूस के स्टॉल लगाए जाते हैं, जिसकी वजह से दूध की खपत बढ़ जाती है.

एक स्थानीय नागरिक ने इस मामले में कहा, “हम हर साल मुहर्रम के महीने में अकीदतमंदों के लिए दूध के स्टॉल लगाते हैं, मगर इस साल दूध की कीमत को देख कर हमारी हालत कमजोर हो गई. मुहर्रम के कारण मैंने अपनी जिंदगी के दूध की कीमत इस तरीके से बढ़ते नहीं देखा”.

रिपोर्ट्स के मुताबिक कराची के कमिश्नर इफ्तिखार शालवानी दूध की बढ़ती कीमत के जिम्मेदार है. पूरा शहर इस मामले से परेशान है मगर कमिश्नर इफ्तिखार शालवानी ने अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया है. ये विडंबना ही तो है कि आयुक्त कार्यालय द्वारा निर्धारित दूध की आधिकारिक कीमत अभी भी 94 रुपये प्रति लीटर है मगर बिना किसी डर से इसे 140 रुपये प्रति लीटर बेचा जा रहा है.