इस्तांबुल: वाशिंगटन पोस्ट समेत तमाम अखबारों के लिए कॉलम लिखने वाले जाने-माने पत्रकार जमाल खाशोगी के लापता होने के मामले की जांच में अब जांचकर्ता इस संभावना को टटोल रहे हैं कि अगर उनकी हत्या सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास के भीतर हुई है तो उनके अवशेष को इस्तांबुल के बाहर जंगल में या किसी दूसरे शहर में ले जाया गया होगा.

अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि पुलिस ने यह पता लगाया है कि जिस दिन जमाल खाशोगी दूतावास गए थे और लापता हुए उसी दिन सऊदी वाणिज्य दूतावास की दो गाड़ियां दूतावास बाहर निकलीं. मौजूदा जांच की गोपनीयता को देखते हुए अधिकारी ने नाम न जाहिर करने के शर्त पर बताया कि इनमें से एक वाहन इस्तांबुल के बाहर ‘बेलग्रेड फॉरेस्ट’ गया था जबकि दूसरी गाड़ी यालोवा गई. अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि पुलिस ने इन क्षेत्रों की जांच की है या नहीं.

क्रूर हत्या कर शव के टुकड़े किए गए ?
तुर्की की मीडिया की खबरों के मुताबिक सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में उन लोगों ने जमाल खाशोगी की हत्या क्रूरतम तरीके से कर शव के टुकड़े किए जिनका ताल्लुक सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान से है. सऊदी अरब ने इन रिपोर्टों को आधारहीन बताया है लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया है कि खशोगी के साथ क्या हुआ. खशोगी वाशिंगटन पोस्ट में लेख लिखते थे और वह शहजादे सलमान की खुली आलोचना भी करते थे.

जमाल खाशोगी का ‘अंतिम कॉलम’ प्रकाशित, वापसी की उम्मीदें खत्म !

मीडिया ने बार-बार सऊदी अरब से इस मामले पर टिप्पणी का आग्रह किया लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं आई. शुक्रवार को तुर्की के सरकार समर्थक समाचार पत्र सबाह ने निगरानी कैमरे की तस्वीरें प्रकाशित की. इसमें सऊदी की कथित उस टीम के सदस्यों की तस्वीरें हैं जिसे जमाल खाशोगी को मारने के लिए तुर्की लाया गया था.

खाशोगी की हत्या का वॉशिंगटन पोस्ट ने किया दावा, सऊदी अरब ने कहा निराधार है आरोप !

इसी अखबार ने गुरुवार को निगरानी कैमरा की एक तस्वीर जारी की थी जिसमें शहजादे मोहम्मद के साथ विदेशों की कई यात्रा के दौरान मौजूद एक व्यक्ति है जो जमाल खाशोगी के दो अक्टूबर के लापता होने से पहले दूतावास आया था. इस व्यक्ति की पहचान तुर्की के अधिकारियों ने माहेर अब्दुल अजीज मुतरिब के रूप में की है. यह शहजादे मोहम्मद की अमेरिका, फ्रांस और स्पेन की यात्रा के दौरान कई तस्वीरों में दिखा था.

सऊदी अरब ने अपने दूतावास में वाशिंगटन पोस्ट के पत्रकार की हत्या के आरोपों को बताया ‘निराधार’

तुर्की के अधिकारियों ने इस सप्ताह सऊदी अरब के वाणिज्य के दूत के आवास की तलाशी भी ली और दूसरी तलाशी दूतावास की भी हुई. अधिकारियों ने अभी यह नहीं बताया है कि उन्हें इस तलाशी के दौरान क्या मिला. राजदूत के घर से तुर्की के विशेषज्ञों की टीम को बैग और बॉक्स बाहर ले जाते हुए देखा गया. (इनपुट एजेंसी)