वाशिंगटन: वाशिगटन पोस्ट के लापता पत्रकार के मुद्दे पर बढ़ते दबावों के मद्देनजर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह लापता पत्रकार जमाल खशोगी के बारे में सऊदी अरब के शाह सलमान से बात करेंगे. खाशोगी की तुर्की में स्थित सऊदी के वाणिज्य दूतावास में हत्या किए जाने की आशंका है. Also Read - सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्‍या में पांच लोगों को मौत की सजा, चर्चित हस्तियां बरी

Also Read - वली अहद ने खशोगी की हत्या का आदेश देने के आरोप से किया इनकार

खाशोगी की हत्या का वॉशिंगटन पोस्ट ने किया दावा, सऊदी अरब ने कहा निराधार है आरोप ! Also Read - खशोगी हत्या मामला: तुर्की ने कहा, वो जांच से पीछे नहीं हटेगा, मामले की तह तक जाएगा

ट्रंप पर दबाव

ट्रंप का यह बयान तुर्की से उन खबरों के बाद आया है जिनमें ऐसी आशंका जताई गई है कि इस्तांबुल में स्थित अपने वाणिज्य दूतावास के भीतर सऊदी अधिकारियों ने पत्रकार की कथित रूप से हत्या कर दी है. इस मामले को लेकर कांग्रेसी सदस्य ट्रंप पर दबाव बना रहे थे. बता दें कि जमाल खाशोगी (59) वाशिंगटन पोस्ट में काम करते थे और वह इस्तांबुल में अपनी शादी के लिए दस्तावेज इकट्टा करने के लिए गये थे. ट्रंप ने कहा,‘‘मैं शाह सलमान से बात करूंगा. हां मैं उनसे बात करूंगा.”

उन्होंने कहा, ‘हम यह पता लगाने की कोशिश करेंगे कि तुर्की की भयानक परिस्थितियों में क्या हुआ, सऊदी अरब और पत्रकार का उससे क्या लेना-देना है. इसके बारे में अभी तक कोई नहीं जानता है. लोगों ने अपने विचार बनाने शुरू कर दिए हैं. जैसे ही वह बन जाएंगे, हम आपको बता देंगे. लेकिन यह वास्तव में एक भयानक चीज है.’ राष्ट्रपति ने सऊदी शाह के साथ होने वाली बातचीत के संबंध में कोई संकेत देने से इनकार कर दिया.

हत्या के लिए माफी नहीं

उन्होंने कहा,‘मैं आपको नहीं बता सकता लेकिन मैं आपसे कहना चाहूंगा कि उन्हें बहुत सख्ती का सामना करना पड़ेगा. बहुत से लोग इसके बारे में जानना चाहते हैं क्योंकि वास्तव में यह एक भयानक स्थिति है. हमे देखेंगे कि क्या होता है. इस बीच विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष एड रॉयस और रैंकिंग मेंबर एलियट एंजल ने ट्रंप को पत्र लिखकर उनसे खशोगी के लापता होने के मुद्दे पर कार्रवाई किये जाने का आग्रह किया है.

सऊदी पत्रकार खाशोगी की गुमशुदगी मामला: अमेरिकी सांसदों ने कहा मामले की जांच का आदेश दें ट्रंप

उन्होंने पत्र में लिखा है,‘श्रीमान राष्ट्रपति, हम सऊदी अरब के साथ अपने संबंधों का सम्मान करते हैं लेकिन फिर भी हत्या और अंतरराष्ट्रीय मानदंडों एवं समझौतों के उल्लंघनों को लेकर माफी से छूट नहीं दी जा सकती है.’ रॉयस और एंजल ने राष्ट्रपति से इस घटना को लेकर जांच में सहयोग के लिए सऊदी अरब पर आवश्यक दबाव बनाये जाने का अनुरोध किया है.

सऊदी अरब ने देश के लापता पत्रकार जमाल खाशोगी मामले की जांच के लिए संयुक्त टीम के गठन के आग्रह को तुर्की द्वारा मंजूरी दिए जाने का स्वागत किया. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, इस संयुक्त टीम में दोनों देशों के विशेषज्ञ शामिल होंगे.

सऊदी अरब ने अपने दूतावास में वाशिंगटन पोस्ट के पत्रकार की हत्या के आरोपों को बताया ‘निराधार’

सऊदी अरब के पत्रकार खाशोग्गी दो अक्टूबर से लापता हैं. वह इस्तांबुल में सऊदी दूतावास में गए थे, उसके बाद से ही वह लापता हैं. सऊदी अरब ने जारी बयान में तुर्की के इस सकारात्मक कदम की सराहना करेत हुए संयुक्त टीम में पूर्ण विश्वास जताया है. उधर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि वह सऊदी अरब के लापता पत्रकार जमाल खाशोगी को लेकर सऊदी अरब के सुल्तान सलमान से बात करेंगे. पत्रकार जमाल दो अक्टूबर से लापता हैं.

ट्रंप ने ओहायो में संवाददाताओं से कहा, मैं कुछ मुद्दों पर किंग सलमान से चर्चा करूंगा. बहुत सारे लोग इस बारे में जानना चाहते हैं और यह बहुत भयावह स्थिति है. ट्रंप ने कहा कि अभी कोई भी इसके बारे में कुछ नहीं जानता. (इनपुट एजेंसी)