न्यू यॉर्क: रेप के आरोपों का सामना कर रहे हॉलीवुड फिल्मकार हार्वे वेनस्टेन ने न्यूयॉर्क में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. न्यू यॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार महीनों तक चली जांच के बाद वेनस्टेन मैनहट्टन में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण करने को तैयार हो गए. खबर के अनुसार वेनस्टेन को वहां से मैनहट्टन अपराधिक अदालत ले जाया जा सकता है. पिछले साल हॉलीवुड अभिनेत्रियों सहित उन पर करीब 70 महिलाओं ने कास्टिंग काउच का आरोप लगाया था. इन खुलासों के बाद ही पहले हॉलीवुड और उसके बाद पूरी दुनिया में मी टू अभियान बड़े स्तर पर शुरू हुआ था.

सीएनएन की खबर है कि मैनहट्टन अभियोजक 66 वर्षीय वाइनस्टाइन को एक मामले में प्रथम और तृतीय डिग्री बलात्कार और दूसरे मामले में प्रथम डिग्री यौनाचार को लेकर आरोपित करेंगे. बाद में उन्हें अदालत में पेश किये जाने की संभावना है. न्यू यॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट है कि पहले से तय हो चुके जमानत पैकेज के तहत वाइनस्टाइन दस लाख डॉलर की जमानत राशि भरेंगे और वह निगरानी उपकण पहनने पर राजी हो गये हैं. उनकी यात्रा नियंत्रित होगी और उन्हें अपना पासपोर्ट जमा करना होगा.

गौरतलब है कि अभिनेत्री ग्विनिथ पाल्ट्रो ने खुलासा किया है कि जब उन्होंने ब्रैड पिट को निर्माता हार्वे वाइन्स्टीन के उनका यौन शोषण करने की बात बताई तो क्रोधित पिट ने वाइन्स्टीन को जान से मारने की धमकी दी थी. ग्विनिथ ने एक इंटरव्यू में कहा कि दोनों होटल के कमरे में अकेले थे और उस दौरन वाइन्स्टीन ने उससे मसाज के बारे में पूछा था और उन्होंने इसकी जानकारी अपने ब्वॉयफ्रेंड पिट को दी थी. इसके बाद जब तीनों हैल्मेट ऑन ब्रॉडवे की स्क्रीनिंग में मौजूद थे तब पिट की वाइन्स्टीन से बहस हुई. अभिनेत्री ने बताया कि उसने निर्माता से कहा ,‘ अब अगर तुमने उसे दोबारा परेशान किया तो मैं तम्हें मार दूंगा.

मी-टू’ कैम्पेन को 2017 का टाइम पर्सन ऑफ ईयर चुना गया था. ऐसा पहली बार हुआ जब प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने अमेरिका में पहले कभी भी हुए यौन शोषण का खुलासा करने वालों को सम्मानित किया है. उसने इन्हें ‘द साइलेंस ब्रेकर्स’ नाम दिया. टाइम द्वारा पहचाने गए लोगों में अभिनेत्री एश्ले जुड का नाम भी शामिल रहा जो वींसटाइन के खिलाफ यौन शोषण का आरोप सार्वजनिक करने वाली पहली अभिनेत्री थी. इस कैंपेन के जरिए हॉलीवुड में ही नहीं बल्कि बॉलीवुड में भी महिलाओं ने अपने साथ होने वाले यौन शोषण के खिलाफ जमकर आवाज उठाई.