वाशिंगटनः अमेरिका सदन में वरिष्ठ डेमोक्रेट सांसद नैंसी पेलोसी ने कम से कम 108 साल पुराने इतिहास को तोड़ते हुए गैर-दस्तावेजी युवा प्रवासियों को स्वदेश भेजने के बचाव में आठ घंटे से भी ज्यादा लंबा भाषण दिया. अगले महीने 78 साल की होने जा रही कैलिफोर्निया की जानी मानी डेमोक्रेटक सांसद सुबह 10.04 मिनट पर सदन पहुंची और भाषण देना शुरू किया. सांसद ने बोलना शुरू किया और इसके बाद वह लगातार बोलती रहीं. उन्होंने गैर-दस्तावेजी युवा प्रवासियों के मुद्दे पर अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को जमकर कोसा.

एक सहयोगी के अनुसार उन्होंने आठ घंटे और सात मिनट तक भाषण दिया और उनका संबोधन शाम छह बज कर 11 मिनट पर समाप्त हुआ. उनके एक सहयोगी के मुताबिक, भाषण के दौरान वह चार इंच की सैंडल पहनी हुई थीं और खड़ी होकर भाषण दे रही थी. इस दौरान उन्होंने सिर्फ पानी पीया. यह अल्पसंख्यक नेता और सदन की पूर्व अध्यक्ष के दृढ़ निश्चय का एक उल्लेखनीय प्रदर्शन है.  एक क्लर्क से मिले संदेश को जोर से पढ़ते हुए पेलोसी ने कहा कि मुझे सदन हाउस के एक इतिहासकार से अभी एक संदेश मिला है जिसमें पुष्टि की गई है कि मैंने कम से कम 1909 के बाद से सदन में सबसे लंबा  भाषण का रिकॉर्ड बनाया है. उन्होंने कहा कि मुझे इस बात से काफी आश्चर्य हो रहा है.

ये भी पढ़ेः  भारत चीन के बीच टकराव का नया केंद्र बन सकता है मालदीव

गौरतलब है कि 67 साल के भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को संसद के दोनों सदनों में लगभग 2.5 घंटे जे ज्यादा समय तक भाषण दिया. उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव
का जवाब देते हुए लोकसभा में 90 मिनट और राज्यसभा में 66 मिनट तक भाषण दिया.