बिश्केक: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान ने शुक्रवार को बिश्केक में एससीओ शिखर सम्मेलन के दौरान एक-दूसरे का अभिवादन किया. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि यहां शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन के आयोजन स्थल पर नेताओं के लाउंज में मोदी और खान ने एक दूसरे का अभिवादन किया .

 

समझा जाता है कि दोनों की आमने-सामने की पहली बातचीत के दौरान खान ने मोदी को चुनाव में मिली जीत की बधाई दी. हालांकि सूत्रों ने बताया कि दोनों की कोई बैठक नहीं हुई. मोदी और खान दोनों यहां एससीओ के वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए आए हैं. दो सप्ताह पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री खान और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अपने-अपने भारतीय समकक्षों को पत्र लिखकर द्विपक्षीय वार्ता को फिर से शुरू करने की हिमायत की थी.

बिश्केक में पुतिन से मिले PM मोदी, जानिए चर्चा के बीच क्यों हुआ अमेठी का जिक्र

भारत का कड़ा रुख- बातचीत और आतंकवाद साथ-साथ नहीं
जनवरी 2016 में पठानकोट में वायुसेना के अड्डे पर पाकिस्तान के एक आतंकवादी संगठन के हमले के बाद से भारत पाकिस्तान से बातचीत नहीं कर रहा है और अपने इस रुख पर कायम है कि बातचीत और आतंकवाद साथ-साथ नहीं चल सकते. खान ने 26 मई को मोदी को टेलीफोन कर के भी दोनों देश के लोगों की बेहतरी के लिए साथ मिलकर काम करने की इच्छा प्रकट की थी .

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मिले पीएम मोदी, कहा- ‘बेहद सार्थक’ हुई मुलाकात

मोदी ने कहा कि क्षेत्र में शांति स्थापित करना आवश्यक
वहीं मोदी ने कहा कि क्षेत्र में शांति स्थापित करने और समृद्धि बढ़ाने के लिए हिंसा एवं आतंकवाद मुक्त माहौल बनाना और भरोसा पैदा करना आवश्यक है. प्रधानमंत्री मोदी को किए गए फोन कॉल एवं पत्र के बाद ऐसी अटकलें थी कि दोनों यहां एससीओ शिखर सम्मेलन से इतर एक मुलाकात कर सकते हैं.