नई दिल्ली: अमेरिका (America) की अंतरिक्ष एजेंसी स्पेस एक्स (SpaceX) ने आज इतिहास रच दिया है. कंपनी के ड्रैगन (Dragon) स्पेसक्रॉफ्ट ने दो क्रू मेंबर्स के साथ अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेश के लिए आज रात सफलता पूर्व उड़ान भर ली है. एलोन मस्क की स्पेसएक्स कंपनी द्वारा निर्मित एक रॉकेट यान से कक्ष में प्रवेश करने के इस अभियान के लिये उड़ान भर कर इतिहास रच दिया है. स्पेस एक्स नौ सालों से इस पर काम कर रही थी. कपनी यह उड़ान तीन दिन पहले ही भरने वाली थी लेकिन खराब मौसम के कारण वह यह नहीं कर सकी थी लेकिन 31 मई को कंपनी ने यह ह्यूमन स्पेस मिशन लॉच करके इतिहास रच दिया है.Also Read - Canada-America की सीमा पार कर रहे भारतीयों की मौत की जांच जारी, विदेश मंत्री ने राजदूतों को दिए निर्देश

स्पेसक्रॉफ्ट ड्रैगन के जरिए रॉबर्ट बेहेनकेन और डगलस हर्ले अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (International Space Station – ISS) में गए हैं. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सफल लॉन्चिंग के बाद सभी को बधाई दी और कहा कि मैं इस बात की घोषणा करते हुए काफी खुश हूं कि स्पेस एक्स ड्रैगन सफलता पूर्वक पृथ्वी की कक्षा में पहुंच गया है. Also Read - धरती की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं Statue of Liberty के साइज वाले Asteroids, NASA ने दी चेतावनी

Also Read - एलन मस्क के लिए पलक पांवड़े बिछाने को तैयार हैं कई राज्य, अब बेंगलुरु में टेस्ला प्लांट स्थापित करने के लिए किया आमंत्रित

लॉंचिंग से पहले स्पेसएक्स के मुख्य कार्यकारी और संस्थापक एलोन मस्क ने ट्वीट किया, ‘‘बिजली चमकने के डर से बुधवार की उल्टी गिनती महज 17 मिनट के अंदर रोक दी गई. हालांकि, फाल्कन को ऐसे झटकों को बर्दाश्त करने में सक्षम बनाया गया है लेकिन मुझे नहीं लगता कि जोखिम मोल लेना बुद्धिमानी भरा होगा.’’

नासा के एडमिनिस्ट्रेटर जिम बार्इडेनस्टीन ने बताया कि नौ साल में पहली बार हमने ऑस्ट्रोनॉट (Astronauts) को स्पेस में भेजा है. उन्होंने कहा कि मुझे अपनी देश की अंतरिक्ष एजेंसी नासा और पूरी SpaceX पर गर्व है. उन्होंने कहा कि Falcon पर अपनी टीम को देखना बहुत ही सुखद होता है.

करीब एक दशक में अमेरिकी जमीन से नासा की यह प्रथम मानव अंतरिक्ष उड़ान है. इस अंतरिक्ष यात्रा के लिये डाउग हर्ले और बॉब बेहंकेन अंतरिक्ष पोशाक पहन कर तैयार हुए और वे ‘निंजा’ के समान दिख रहे थे. अंतरिक्ष में जाने के दौरान वहां हवा की रफ्तार नियंत्रण के दायरे में रहने की जरूरत होगी. उनका गंतव्य अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) 19 घंटे की उड़ान की दूरी पर है.

आपको बता दें कि स्पेस-एक्स अमेरिकी उद्योगपति एलन मस्क की कंपनी है और दोनों एस्ट्रोनॉट्स को स्पेसक्रॉफ्ट ड्रैगन से स्पेस स्टेशन भेजा गया है. इस पूरे मिशन को SpaceX Demo-2 mission नाम दिया गया है.