काठमांडू: नेपाल ने कोविड-19 के लिए भारत में बने एस्ट्राजेनेका के टीके कोविशील्ड के आपात स्थिति में उपयोग को मंजूरी दी. देश में महामारी से अभी तक करीब 1,950 लोगों की मौत हुई है. नेपाल के औषधि प्रशासन विभाग द्वारा जारी बयान के अनुसार, टीके को मंजूरी देने का फैसला शुक्रवार को लिया गया. बयान के अनुसार, ‘‘नेपाल में कोविड-19 के खिलाफ कोविशील्ड टीके के आपात स्थिति में उपयोग की सशर्त मंजूरी दी गई है.’’Also Read - School/College Closed In UP: उत्तर प्रदेश में सभी शैक्षणिक संस्थान 30 जनवरी तक रहेंगे बंद, आदेश जारी

दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ साझेदारी में भारत सरकार के अलावा अन्य कई मध्यम और कम आय वाले देशों को टीका उपलब्ध करा रही है. इंस्टीट्यूट दुनिया का सबसे बड़ा टीका उत्पादक है. Also Read - UPTET 2021: कोरोना संक्रमित अभ्यर्थी दे सकेंगे यूपीटीईटी परीक्षा, अलग से होगी व्यवस्था

गौरतलब है कि शनिवार से भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ आखिरी जंग यानी कोरोना वायरस वैक्सीनेशन की शुरुआत होने जा रही है. देश से सभी राज्यों में कोरोना वायरस की वैक्सीन पहुंच चुकी है. वैक्सीनेशन के शुरुआती चरण में कुल तीन करोड़ लोगों को वैक्सीन दी जाएगी जिसमें कोरोना वारियर्स को प्राथिमिकता दी गई है. Also Read - HD Devegowda Corona Positive: पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा हुए कोरोना संक्रमित, फिलहाल नहीं दिख रहे हैं लक्षण

वैक्सीनेशन के पहले चरण में सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी इसके बाद सफाई कर्मियों को भी वैक्सीन दी जाएगी. इन दोनों के बाद उच्च जोखिम रोगों से ग्रसित लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी. भारत में शनिवार को पीएम मोदी सुबह साढ़े दस बजे कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे.