पिथौरागढ़: नेपाल ने कालापानी-लिपुलेख मुद्दे पर भारत के साथ अपने संबंधों में जारी तनाव के बीच दारचुला में खोली गयी अपनी छह सीमा चौकियों में से दो को बंद कर दिया है. धारचूला के उपजिलाधिकारी एके शुक्ला ने सोमवार को नेपाल सशस्त्र पुलिस के एक प्रवक्ता के हवाले से बताया, “उक्कू और बलारा में सीमा चौकी बंद कर दी गई हैं.” Also Read - PM नरेंद्र मोदी का नया रिकॉर्ड, सबसे लंबे समय तक रहने वाले पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री बने

शुक्ला ने नेपाली अधिकारी के हवाले से कहा, “बाकू, बुर्किल और विनायक में तीन अन्य नेपाली सीमा चौकियां भी बंद होने की प्रक्रिया में हैं.” उन्होंने कहा कि उक्कू और बलारा में दो सीमा चौकियां नेपाल के गृह मंत्रालय के आदेश पर बंद की गयी हैं क्योंकि इन क्षेत्रों में स्थिति सामान्य है. हालांकि, उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि हाल में उच्चीकृत की गयी चंगरू सीमा चौकी को अभी जारी रखा जाएगा. Also Read - Russia Vaccine Update: रूस ने बना ली कोरोना की वैक्सीन, क्या भारत भी करेगा इस्तेमाल, जानें एम्स की राय

सीमा पर भारतीय क्षेत्र में स्थित कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा को नेपाली भूभाग के रूप में दिखाने वाले एक नेपाली मानचित्र के हाल में प्रकाशन के बाद भारत—नेपाल संबंधों में आए तनाव के बीच इन सीमा चौकियों को दारचुला में स्थापित किया गया था. Also Read - रूस में कोरोना की वैक्सीन ‘Sputnik V’ बनकर तैयार, भारत सहित 20 देशों ने दिया 100 करोड़ डोज का ऑर्डर

भारत-नेपाल संबंधों के जानकार और कुमाऊं विश्वविद्यालय में राजनीतिक विज्ञान के प्रोफेसर रहे एलएल वर्मा ने कहा, “भारत के साथ अपनी सीमा पर चौकियों को बंद करने का नेपाल का निर्णय वहां प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी से ढीली होती पकड़ का परिणाम प्रतीत होता है.’

(इनपुट भाषा)