काठमांडू: नेपाल के प्रधानमंत्री के पी ओली को सोमवार को फेफड़े में संक्रमण के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया. एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई. ‘काठमांडू पोस्ट’ ने अस्पताल की ओर से जारी एक बयान के हवाले से बताया है कि फेफड़े में संक्रमण के बाद ओली (66) को काठमांडू के मनमोहन कार्डियोथोरैसिक वैस्क्यूलर एंड ट्रांसप्लांट सेंटर में भर्ती कराया गया.

अमेरिका: राष्ट्रपति ट्रंप का आरोप, कहा- नफरत फैलाने की दोषी है ‘मीडिया’

सांस लेने में दिक्कत
बयान के मुताबिक, ओली मौसमी बुखार (फ्लू) के कारण पिछले कुछ दिनों से बीमार थे. प्रधानमंत्री के इलाज में शामिल डॉ. अरुण शयामी ने बताया कि ओली को सोमवार की सुबह अस्पताल ले जाया गया. उन्हें सांस लेने में दिक्कत आ रही थी. शयामी ने कहा, ‘‘फेफड़े में संक्रमण को लेकर उनका इलाज कर रहे हैं. उन्हें नसों के जरिए एंटीबायोटिक दिए जा रहे हैं.’’अस्पताल ने बयान जारी कर पुष्टि की कि प्रधानमंत्री को तड़के साढ़े चार बजे अस्पताल में भर्ती कराया गया. सीने में संक्रमण और रक्त शर्करा (ब्लड शुगर) स्तर में असंतुलन के लक्षण नजर आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया.

महिला उत्पीड़न के दोषी भारतीय मूल के शख्स को 6 साल की सजा, एसिड अटैक की दी थी धमकी

दिल्ली में भी हुआ था इलाज
ओली पिछले कुछ दिनों से बैठकों और सार्वजनिक कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो रहे. उन्होंने रविवार को अपने सरकारी आवास में कुछ देर के लिए कैबिनेट की एक बैठक की थी. सर्दी-बुखार के कारण सेहत बिगड़ने पर डॉक्टरों ने ओली को तीन दिन आराम करने का सुझाव दिया था. ओली ने 2014 में नई दिल्ली में इलाज के सिलसिले में काफी लंबा वक्त बिताया था. इस बीच, नेपाल के कई प्रमुख नेताओं ने अस्पताल जाकर ओली के स्वास्थ्य की जानकारी ली. अस्पताल में ओली के कई शुभचिंतक और पार्टी के कई कार्यकर्ता इकट्ठा हो चुके हैं.(इनपुट एजेंसी)