काठमांडू: नेपाल में कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रसार को देखते हुए देश भारतीय नागरिकों के देश में प्रवेश के लिये चिन्हित स्थानों को 20 से घटा कर 10 कर दिया है तथा घरेलू एवं अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक को 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया है. Also Read - India China Face-off: सीमा पर तनाव के बीच विदेश मंत्री जयशंकर का बयान- भारत और चीन "अभूतपूर्व" स्थिति से गुजर रहे हैं

बालुवातार में स्थित प्रधानमंत्री के सरकारी आवास पर सोमवार शाम हुयी कैबिनेट की बैठक में कोविड—19 संकट प्रबंधन केंद्र (सीसीएमसी) की सिफारिशों पर निर्णय किया गया. सरकार ने 120 दिन बाद लॉकडाउन को आंशिक रूप से हटा लिया था. कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये देश में 24 मार्च को पहली बार लॉकडाउन लागू किया गया था. इसके बाद सरकार ने 17 अगस्त से लंबी दूरी की सार्वजनिक परिवहन सेवाओं, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने की अपनी योजना की घोषणा की थी. Also Read - गिलगिट-बाल्टिस्तान में चुनाव कराने की घोषणा पर भारत ने पाकिस्तान पर साधा निशाना, कहा- कब्जे वाली जगह पर...

​कोरोना वायसरस की रोकथाम के लिये कैबिनेट की बैठक में भारत से नेपाल में प्रवेश करने वाले लोगों के लिये चिन्हि​त स्थानों को मौजूदा से 20 से घटा कर दस करने का निर्णय किया गया. अधिकारियों ने बताया कि सीमा पार से अ​नधिकृत लोगों के आवागमन पर रोक लगाने के लिये सीमाई क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. Also Read - India-China standoff: MEA ने कहा- जमीनी स्थिरता सुनिश्चित करना जरूरी, कमांडर्स की मीटिंग जल्‍द

नेपाल में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 638 नये मामले सामने आये जिससे देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर 23,948 हो गयी है. पिछले 24 घंटों में चार और लोगों की मौत हो जाने से देश में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बढ़ कर 83 हो गयी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में अभी 7,201 मरीजों का उपचार चल रहा है.